उघैती: एक ही दिन दो घटनाएं एक ही दिन अलग-अलग जगह पर महिलाएं दरिंदों का शिकार बनी लेकिन पुलिस ने अभी तक कोई कार्यवाही नहीं की। (अकरम मलिक की रिपोर्ट)

बदायूँ: उघैती पुलिस से तंग आकर महिला ने बदायूं एसएसपी को लिखित में ज्ञापन दिया/महिला ने आरोप लगाया है कि मुलजिम से मिलकर पुलिस महिला पर फैसले का दबाव बना रही है/उघैती थाना पुलिस की वारदात लगातार नजर आ रही हैं लेकिन उच्च अधिकारी मौन क्यों

उघैती थाना क्षेत्र मैं महिलाओं के साथ लगातार घटनाएं और अत्याचार हो रहे हैं लेकिन पुलिस किसी पर भी कार्रवाई नहीं कर रही है योगी सरकार में महिलाओं को सुरक्षा और न्याय दिलाने की कसमें खाई जा रही हैं लेकिन पुलिस प्रशासन योगी सरकार की कसमो पर खरा नहीं उतर रहा है

घटना उघैती थाना क्षेत्र प्रार्थी के पती राजीव कुमार शर्मा के एक्सीडेंटल मुआवजे का मुकदमा श्रमायुक्त के यहां पर चल रहा था जिसमें 50 प्रतिशत पैसा मालिक से वसूल होना था श्रमायुक्त के यहां पर बाबू पद पर तैनात वेद प्रकाश जो कि प्रार्थी के गांव के नजदीक करियामई का रहने वाला है और वेदप्रकाश ने प्रार्थी से जान पहचान कर ली वेद प्रकाश ने प्रार्थी से कहा कि आपको किसी वकील की जरूरत नहीं है मैं तुम्हारा पैसा सब निकलवा दूंगा और वेदप्रकाश ने प्रार्थी से मोबाइल नंबर ले लिया और प्रार्थी को अपना नंबर दे दिया दिनांक 9/6/2018 को प्रार्थी से फोन कर कर बोला कि आपके मुकदमा मैं मुआवजा से संबंध मैं जरूरी बात करनी है आपसे मिलना चाहता हूं और सारे पैसा दिलाने का प्रार्थी को लालच दीया और प्रार्थी के घर पर वेद प्रकाश शर्मा निवासी करियामई दारू पीकर रात के 9:00 बजे प्रार्थी के घर जा पहुंचा और रात्रि में परिवार के लोग मेंथा निकलवाने के लिए सब खेत पर गए थे घर पर प्रार्थी अकेली थी रात्रि मे प्रार्थी को अकेला देखकर वेद प्रकाश ने प्रार्थी से गंदी गंदी बातें करने लगा जब प्रार्थी ने मना किया तो प्रार्थी की कोरिया भरकर जबरन पलंग पर गंदी नियत से डाल लिया और बलात्कार करने की कोशिश करने लगा और प्रार्थी जोर-जोर से चीखने शोर मचाने लगी तो पड़ोस के लोगों ने प्रार्थी को बचा लिया और वेद प्रकाश को मौके पर पकड़ लिया पकड़ने के बाद 100 डायल पुलिस फोन कर कर घटना पर बुला ली और वेद प्रकाश को हंड्रेड पुलिस को सौंप दिया उसके बाद महिला ने वेद प्रकाश के खिलाफ थाने में तहरीर दी लेकिन पुलिस ने मुकदमा दर्ज नहीं किया और उसके बाद पुलिस ने उल्टा ही महिला को हड़काना शुरू कर दिया जिससे महिला 3 दिन से थाने के चक्कर काट रही लेकिन पुलिस ने एक ना सुनी पुलिस ने सुनी तो महिला से फैसला कराने का दबाव डालने लगी जब महिला ने फैसला को मना कर दिया तो महिला को हड़का कर भगा दिया और उसके बाद महिला 13/ 6/ 2018 बदायूं कप्तान साहब से लिखित में शिकायत कर कर वापस थाने आ गई फिर भी पुलिस ने एक न सुनी कौन कहता है कि पुलिस महिलाओं को सुरक्षा देती है उघैती थाना क्षेत्र में महिलाओं को सुरक्षा देने में पुलिस फेल उघैती थाना क्षेत्र मैं 9/6 /2018 महिला का पति किसी काम से बाहर गया था गांव का ही व्यक्ति महिला के घर में रात्रि में घुस गया और महिला को अकेला देखकर महिला को दबोच लिया जब महिला ने शोर काटा तो महिला के मुंह में कपड़ा और कनपटी पर तमंचा रखकर महिला के साथ यौन शोषण किया और महिला ने अपने पति को फोन से सारी बात बताई तो महिला का पति थाने आकर नामजद तहरीर दी लेकिन पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं की है एक मामला और सामने उघैती थाने का दरोगा की खुली दबंगई महेश निवासी रघुनाथपुर से किशनपाल प्रधान निवासी पिपरी ₹1000 रिश्वत के तौर लैट्रिन बनवाने के लिए थे उन पैसों को मांगने के लिए महेश प्रधान के घर पहुंच गया और रिश्वत के पैसे मांगने पर प्रधान ने गाली गलौज देकर और मुकदमा दर्ज कराने की धमकी घर से भगा दिया उसके बाद प्रधान ने फोन पर मां बहन की गाली देना शुरू कर दि और प्रधान ने दरोगा से सेटिंग कर कर एक नया षड्यंत्र रचा जिसमें महेश को प्रधान से माफी मांगना था जब दरोगा ने फोन कर कर महेश से कहा तू प्रधान जी के घर माफ़ी मांगने गया था या नहीं और मां बहन की गाली दरोगा ने देना शुरु कर दी उसके बाद महेश पेट में अपने चक्कू डालने तक भी राजी हो गया और थूक कर चाटने को राजी हो गया तब दरोगा जी को कहीं जाकर सुकून मिला और दरोगा जी ने प्रधान जी को साथ लाने के लिए महेश के घर पर राजी हो गए यह है हमारी पुलिस जनता को न्याय की जगह गालियां का सामना करना पड़ रहा है महिलाओं को दरिंदों का सामना करना पड़ रहा है लेकिन पुलिस दरिंदों को बचाने पर लगी हुई है उघैती थाने का मकसद है कि सजा किसी को नहीं फैसला अब देखते हैं कप्तान साहब क्या एक्शन लेते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published.