उघैती: बिजली कटौती देखकर ग्रामीणों का बिजली विभाग और सरकार के खिलाफ रोष व्यक्त है

उघैती/बदायूं:  उघैती बिजली घर पर आजकल बिजली ने तो कमाल ही कर दी लगातार हो रही बिजली की कटौती ने लोगों का जीना मुहाल कर दिया है। बिजली गुल होने के बाद पता नहीं होता है कि बिजली दोवारा कब आएगी। दिन हो या रात बस लोगों को अघोषित बिजली कटौती का ही भय सताता रहता है कि बिजली ना जाने कब गुल हो जाए। बिजली कटौती के कारण लोगों की पूरी दिनचर्या खराब होकर रह जाती है। सबसे ज्यादा परेशानी लोगों को रात के समय उडानी पडती है। जब गर्मी से बचाव के लिए लोग घरों की छतों पर पहुंचते हैं तो वहां मच्छरों का प्रकोप झेलने को मजबूर होना पडता है। और अनेक तरह की बीमारियों से जूझना पड़ता है

इतना ही नहीं कि बिजली रात के समय एक बार ही जाती है बल्कि कई बार तो कई कई घंटों तक गुल हो जाती है। जिसके कारण गर्मी मच्छरों से छोटे बच्चे, महिला और बुजुर्गों को भारी कठनाईयों का सामना करना पडता है। खासकर ग्रामीण क्षेत्र में बिजली की अघोषित कटौती से ग्रामीणों में सरकार के प्रति रोष व्याप्त है। बिजली विभाग द्वारा ग्रामीण क्षेत्र के लिए बनाए गए शैडयूल के अनुसार भी बिजली उपलब्ध नहीं हो पा रही है जिसके कारण आजकल पड रही गर्मी मच्छरों का प्रकोप अनेक तरह की बीमारियां और अघोषित बिजली कटौती ने लोगों की रात की नींद और दिन का चैन छीन लिया है एक तरफ सरकार बड़े-बड़े वादे करती है दूसरी तरह उच्च अधिकारी बादो की खिल्ली या उड़वाते नजर आ रहे हैं सरकार ने 24 घंटे बिजली देने की बात कही लेकिन गर्मी की शुरुआत में ही दावे फेल हो गए ग्रामीण क्षेत्रों की स्थिति यह है कि यहां कुछ ही घंटे बिजली आपूर्ति की जा रही है विद्युत उपकेंद्र पर आधारित गांव में 6 से 7 घंटे बिजली मिल रही है उसमें भी 11:00 बजे रात के कटौती हो जाती है ग्रामीणों में बिजली विभाग और सरकार के प्रति रोष व्याप्त है

Leave a Reply

Your email address will not be published.