उझानी के श्री ओम प्रकाश शर्मा इंटर कालेज अब्दुल्लागंज में राष्ट्रध्वज की जानकारी देते गायत्री परिवार के संजीव कुमार शर्मा।

बदायूँ/ उझानी: शौर्य, शांति और समृद्धि का द्योतक है राष्ट्रध्वज: संजीव-बच्चों ने सीखे राष्ट्रध्वज फहराने के नियम
उझानी: श्री ओम प्रकाश शर्मा इंटर कालेज अब्दुल्लागंज में भारतीय राष्ट्रीय ध्वज के अभिकल्पक पिंगली वेंकैया और रसायन विज्ञान के पिता प्रफृल्ल चंद्र राय के जन्मदिवस पर शिक्षक-शिक्षिकाओं और बच्चों को राष्ट्रध्वज फहराने के नियम बताए। बच्चों ने देशभक्ति गीतों की शानदार प्रस्तुति दी।
गायत्री परिवार के संजीव कुमार शर्मा ने कहा कि राष्ट्रध्वज देश की आन, वान, शान और राष्ट्र के गौरव का प्रतीक है। देश का प्रत्येक नागरिक राष्ट्रध्वज के सम्मान में अपनी जान तक न्यौछावर करने को तैयार रहता है। शौर्य, शांति और समृद्धि का द्योतक राष्ट्रध्वज को प्रणाम करना देश को प्रणाम करना है। श्री शर्मा ने बताया कि राष्ट्रध्वज को सूर्योदय से सूर्यास्त तक फहराना चाहिए। जमीन और पानी से स्पर्श नहीं होना चाहिए। राष्ट्रध्वज को गरिमा, निष्ठा और सम्मान से देखना चाहिए।
प्रबंधक धर्मेंद्र कुमार शर्मा ने कहा कि राष्ट्र को सशक्त और समृद्धिशाली बनाने के लिए अपनी सामथ्र्य और शक्ति को पहिचानें, राष्ट्रध्वज का सम्मान करें। प्रधानाचार्य रमेश चंद्र ने कहा कि देशभक्तों और क्रांतिकारियों के त्याग और बलिदान की लम्बी परम्परा के बाद आजादी का सपना साकार हो सका।
देशभक्ति गीतों की छात्रा क्रांति, सीमा, कोमल, खुशबू आदि ने शानदार प्रस्तुति दी। इस मौके पर शिक्षक अजब सिंह, आनंद सिंह राघव, रवीश शर्मा, तष्मेंद्र यादव, शालिनी शर्मा, संदीप कुमार, स्वाति पाल, शिवानी वाष्र्णेय, विनोद पाल, स्नेहलता, कौशल कांत, अमन कपूर, रामस्नेही, आशिया, नीलोफर, उत्कर्ष दीक्षित आदि मौजूद रहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.