उझानी: यह कैसा रूट डायवर्जन/कांवर यात्रा मार्ग से गुज़र रहे भारी वाहन/कोई नहीं रोक्ने वाला पुलिस पिकेट बनी मूक दर्शक। (अंजार अहमद की रिपोर्ट)

बदायूँ/उझानी: सावन मास में काँवर यात्रा लेकर दूर दराज से हज़ारों श्रद्धालु कछला गंगा जल भरने आते हैं।इसलिए रूट डायवर्जन कर दिया जाता है जिससे श्रद्धालुओं को कोई परेशानी न हो लेकिन रुट डायवर्जन के बावजूद पुलिस पिकेट की मौजूदगी में भारी वाहनों का धड़ल्ले से गुज़रना पुलिस के बन्दोबस्त की कलई खोल रहा है l
मिली जानकारी के अनुसार रविवार को कांवर यात्रा मार्ग को रूट डायवर्जन किया गया था और भारी वाहनों को पूर्ण रूप से प्रतिबंधित होने के बाद भी रोडवेज बसों का निकलना बादस्तूर जारी है l
रविवार रात आठ बजे तीन बसें इसी मार्ग से आसानी से गुज़र गयीं आज सुबह साढ़े छे बजे भी एक रोडवेज बस को निकलते देखा गया और ड्यूटी पर मुस्तैद पुलिस कर्मी आँखें मूंदे बैठे रहे उन्होंने बस चालक को रोकने की जहमत तक नहीं उठाई जबकि रुट डायवर्जन मार्ग पर पुलिस पिकेट भी लगी है और पुलिस फोर्स की गाड़ियां भी घूम रही हैं लेकिन रुट डायवर्जन कै बाबजूद भी रोडवेज बसों को नहीं रोका जा रहा है।
व्यस्ततम मार्ग पर दौड़ती रोडवेज बसों को आखिर क्यों नहीं रोका जा रहा है ? यह एक बड़ा सवाल है l
यहां बताते चलें कि सावन मास में श्रद्धालुओं की सबसे ज्यादा भीड़ शुक्रवार से शुरु होकर सोमवार तक रहती है और हज़ारो श्रद्धालु काँवर लेकर गंगा में जल भरने आते हैं और वे इस अव्यवस्था से काफी खफा हैं l और ड्यूटी पर मौजूद पुलिस कर्मी आखिर क्या कर रहे हैं और भारी वाहनों के आवागमन पर रोक न लगने की मुख्य वजह क्या है ?
बरहाल इस अनदेखी से कांवर यात्रियों में खासा रोष व्याप्त है और वे इसके लिये पुलिस प्रशासन की बड़ी लापरवाही मान रहे हैं l
ऐसे में सवाल यह उठता है कि यदि कोई अनहोनी होती है तो उसका ज़िम्मेदार कौन होगा ?

Leave a Reply

Your email address will not be published.