कप्तान साहब एक नजर उघैती थाने पर भी पुलिस के वह से क्षेत्र त्राहि त्राहि कर रहा है/ऑडियो वायरलसुने

बदायूँ: दबंग प्रधान का पक्ष लेते हुए खाकी दरोगा अपना कर्तव्य ही भूल गया और मां बहन की गाली देना शुरु कर दी/योगी सरकार में पुलिस की खुलेआम शख्स के लिए खाकी दरोगा मां बहन की गाली देते हुए ऑडियो वायरल सुने https://youtu.be/uJN6aurnvm0  https://youtu.be/uJN6aurnvm0

उघैती थाना क्षेत्र में इस तरह की घटना नई नहीं है पुलिस इस तरह की घटना कई बार कर चुकी है कई सम्मानित लोगों पर भी पुलिस हाथापाई कर चुकी है पुलिस की गुंडीआई यहां तक बरकरार होने लगी है कि चलते राहगीर को भी गस्त के बहाने पीटना शुरु कर देती है जनता के अंदर वह पैदा करने के लिए व्यक्तियों पर पुलिस अनेक तरह के फार्मूले अपना रही है जो फार्मूले सम्मानित लोगों और सीधे-साधे इंसानों पर पुलिस का असर पढ़ रहा है
उघैती थाना क्षेत्र महेश निवासी रघुनाथपुर प्रधान किशनपाल जाटव निवासी पिपरी के घर लैट्रिन के लिए कहने गया और प्रधान किशनपाल जाटव ने महेश के साथ में आद्रता और गलत बातों का प्रयोग किया और थाने आकर किशनपाल जाटव ने महेश रघुनाथपुर निवासी की शिकायत दरोगा से कर दी उसके बाद पुलिस का गंदा खेल और गुंडीआई चालू हो जाती है दरोगा ने रघुनाथपुर निवासी से फोन से बात कर कर पहले मां बहन और अनेक तरह की गालियों का प्रयोग रघुनाथपुर निवासी से कहना शुरू कर दिया और उसके बाद महेश रघुनाथपुर निवासी को एसटी एक्ट मैं जेल भेजने के लिए कहने लगा उसके बाद महेश रघुनाथपुर निवासी इतना डर गया कि उसने अपने पेट में चाकू और मरने के लिए भी कहने लगा और दरोगा को अपना बाप भी कहने लगा और यहां तक की प्रधान जमीन पर थूक देंगे उसको भी चाटने के लिए कहने लगा जब दरोगा की मन की बात होने लगी तो दरोगा ने उसके घर प्रधान और ख़ुद घर पर आने के लिए कहने लगे
ऑडियो में एक तो बात क्लियर ही हो गई कि लैट्रिन के कुछ पैसे प्रधान जी को दे दिए और उन पैसों को लेने के लिए रघुनाथपुर निवासी प्रधान किशन पाल निवासी पिपरी के घर गया था और उन पैसों को लेकर आपस में कही सुनी हो गई जिसमें प्रधान ने महेश के लिए धमकी दी कि SC एक्ट का मुकदमा दर्ज कराऊंगा और नंबर बढ़ाने के लिए दरोगा ने प्रधान का पक्ष ले कर महेश रघुनाथपुर निवासी से माफी मांगने के लिए और मां बहन की गाली देना शुरु कर दिया योगी सरकार में उघैती थाने की पुलिस खुलकर गुंडीआई कर रही है उघैती पुलिस को योगी सरकार का वह नहीं जिसमें पुलिस ने इस तरह की घटना कई बार कर दी और सम्मानित लोगों के साथ में भी हाथापाई करना शुरू कर दिया है गस्त के नाम पर चलते राहगीरों में उघैती पुलिस हाथापाई करने में कोई कसर नहीं छोड़ रही है और अनेक तरह के जनता में वह पैदा करने के लिए फार्मूले बनाती रहती है जो फार्मूले सम्मानित और सीधे साधे लोगों पर टूट जाता है इसलिए क्षेत्र के लोग त्राहि-त्राहि कर रहे हैं
कई महीनों से योगी सरकार और कप्तान साहब समझा रहे हैं कि
पुलिस पीड़ितों से अच्छा व्यवहार करे। थाने आए पीड़ितों की बात सुनी जाए। तत्काल मुकदमा लिखा जाए। एसएसपी कई महीनो से पुलिस को यही पाठ पढ़ा रहे हैं, लेकिन सुधार नहीं हो रहा। ऑडियो क्लिप वायरल हुए हैं। उघैती थाने के दरोगा का है। वह खुलेआम गुंडई और गालियां दे रहा है

Leave a Reply

Your email address will not be published.