जरीफनगर: लैब से जाच रिपोर्ट मे घोडा को ग्लेण्डर फारसी की बीमारी पाई गई।

बदायूँ/मुजरिया: तहसील सहसवान व थाना जरीफनगर के गाव भोएस मे रेवाराम पुत्र गोकिल के घोडे का सीरम लैब मे जाच हेतु भेजा हिसार लैब से जाच रिपोर्ट मे घोडा को ग्लेण्डर फारसी बीमारी होना पाया गया मुख्यपशुचिकित्साधिकारी डा ए के जादोन ने जिलाधिकारी से यूथेनेशिया कराने की अनुमति लेकर टीम गठित की गयी टीम डा ए के सिह डा दीपकुमार शैलेन्द्र सिह प्रेमपाल व ब्रचक इण्डिया के डा संजीव जौहरी व रमेशयादव ने घटना स्थल पर पहुचकर यूथेनेशिया करने की तैयारी की जिसमे जनता ने अवरोध पैदा किया बाद मे पुलिस के सहयोग से ब्रुक इण्डिया के डा संजीव जौहरी ने यूथेनेशिया किया पशुपालन विभाग ने गड्ढा खुदवाकर दफनाया शासन प्रशासन से घोडा स्वामी को मुआवजा दिया जायेगा । डा ए के सिह ने बताया कि ग्लेण्डर फारसी बीमारी खतरनाक है जो घोडो से मनुष्यों मे बीमारी फैलती है तथा यह लाइलाज है इसलिए सरकखर इस तरह की बीमारी वाले घोडो को ब्रुक इण्डिया के डाक्टरों से यूथेनेशिया करायी जाती है और मार दिया जाता है तथा बाद मे गहरे गढढा मे दफनाया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.