देसी शराब की ओवर रेटिंग चरम पर

आबकारी विभाग में व्याप्त भ्रष्टाचार की पराकाष्ठा, बार-बार खबरें प्रकाशित होने के बावजूद भी नहीं रुक रही है देशी शराब पर ओवर रेटिंग

बदायूँ/उत्तर प्रदेश
सहसवान : सहसवान, बिल्सी, बिसौली, इस्लामनगर, जरीफनगर, दहगवां आदि क्षेत्रों में देशी शराब पर ओवर रेटिंग का खेल काफी समय से चल रहा है। उक्त मामले में मीडिया में बार-बार खबरें भी प्रकाशित होती रहती हैं और आबकारी विभाग के उच्च अधिकारियों से बार-बार शिकायत भी की जा रही है, लेकिन उच्च अधिकारी उक्त समस्या का समाधान करने के बजाय मामले पर पर्दा डालने की कोशिश करते नजर आते हैं। सोशल मीडिया पर देशी शराब की दुकानों पर एमआरपी से ऊपर शराब बेचते हुए वीडियो भी वायरल हो रहे हैं। और आबकारी विभाग के उच्च अधिकारियों को भी लगातार इस तरह के वीडियो भेजे जा रहे हैं। इसके बावजूद उच्च अधिकारी मामले में संज्ञान लेने के बजाय उल्टे शिकायतकर्ता से ही सवाल जवाब करने लगते हैं। और अंत में जांच का हवाला देकर मामले में लीपापोती कर रफा दफा कर देते हैं।

हद तो तब हो जाती है जब उक्त मामले की खबरें मीडिया में बार-बार प्रकाशित होने के बावजूद आबकारी विभाग के अधिकारियों के कान पर जूं तक नहीं रेंगती। अब सवाल उठता है कि आबकारी विभाग क्या बिना किसी लालच वश इतना बड़ा घोटाला होने के बावजूद किसी भी प्रकार की कार्यवाही को अंजाम नहीं देता है? यह हाल आबकारी विभाग के अधिकारियों का केवल जिला स्तर तक ही सीमित नहीं है बल्कि मंडल स्तर तक के अधिकारी खबरें प्रकाशित होने के बावजूद मात्र औपचारिकता पूरी कर मामले को रफा-दफा कर देते हैं।

लेकिन लगातार खबरें प्रकाशित होने के बावजूद भी उच्च अधिकारियों पर कोई असर होता दिखाई नहीं दे रहा अब देखना यह है कि इस खबर के प्रकाशित होने के बाद अधिकारी ओवर रेटिंग और अवैध शराब के मामले में कोई संज्ञान लेते हैं या नहीं। या फिर इस खबर के प्रकाशित होने के बाद भी सिर्फ औपचारिकता ही पूरी की जाएंगी।

संपादक हरिशंकर मिश्रा