पूर्व में मिले अज्ञात महिला के शव का फैजगंज बेहटा पुलिस ने किया खुलासा।

बदायूँ/फैजगंज बेहटा : 
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के निर्देशन मे चलाये जा रहे अभियान के दौरान क्षेत्राधिकारी बिसौली के नेतृत्व मे थाना फैजगंज बेहटा पुलिस द्वारा दिनाँक 30.07.18 को थानाध्यक्ष इन्द्रेश कुमार फोर्स के साथ सघन चैकिंग   मे अभियुक्त सर्वेश पुत्र रम्मू निवासी तिगरा खानपुर थाना आँवला जिला बरेली, मन्नूगर तिराहा से अल्लेपुर अपनी बहन सावित्री के घर जा रहा था सूचना मिलने पर अभियुक्त सर्वेश उपरोक्त को मन्नूनगर तिराहा से गिरफ्तार किया गया। अभियुक्त सर्वेश ने पूछताछ पर बताया कि मेरी लड़की पूजा उम्र 19 वर्ष के नाजायज सम्बन्ध मेरे भाँजे नबाव पुत्र कलैक्टर निवासी नसीयाबाद थाना मीरगंज जिला बरेली से हो गये थे। मेरी लड़की कई बार भाग गई थी। इसी दौरान मैं कई बार अपने लड़की को अपने घर से लाया था। दिनाँक 15.07.18 को पुनः वह घर से भाग गई थी। मैने काफी तलाश की नहीं मिली कि चौकी रामनगर थाना आँवला, जनपद बरेली पुलिस द्वारा गाँव के प्रधान राजेश को सूचना मिली कि एक लड़की चौकी पर पकड़ी गई है। मैं अपनी लड़की को अपने घर लाया। उसी दिन मेरी बहन सावित्री पत्नी अमरपाल नि0 अल्लैपुर आयी। मैने व मेरी बहन ने पूजा को समझाया उसके बाद मैंने लड़की को ग्राम अल्लेपुर अपनी बहन के घर भेज दिया परन्तु मेरे साढ़ू का लड़का सोमेन्द्र पुत्र अहबरन मेरे गाँव का मेरे पास आया बोला कि पूजा ने काफी बदनामी करा दी है। इसका काम तमाम कर दो । रुपया खर्च होगा मैने बताया मेरे पास रुपया नहीं है। इतने में सोमेन्द्र ने 15 हजार रुपये दे दिये। मैने पूर्व परिचित बदमाश जगदीश निवासी परौता थाना-शाहबाद जिला रामपुर से बात की उसने इस काम के लिए 25 हजार रु माँगे। मैने उसे बताया मेरे पास 15 हजार रुपये हैं वह तैयार हो गया। दिनाँक 18.07.18 को जगदीश को लेकर मन्नूनगर जंगल में आया। जगदीश को छोड़कर अपनी लड़की को लेने अल्लेपुर आया। अपनी बहन को बताया कि इसकी शादी तय हो गयी है। मैं अपने साथ ले जा रहा हूँ परन्तु मैं आसफपुर रोड पर मन्नूनगर तिराहा से आगे जंगल में मो0सा0 रोकली। मो0सा0 किनारे लगाकर पूजा को खेतो की तरफ ले गया। जगदीश ने मेरी लड़की का गला घोंट दिया। मैंने उसके पाँव पकड़े जब वो मर गई जगदीश को 15 हजार रुपये दिये। जगदीश को शाहबाद रोड पर छोड़ा मैं अपने घर चला गया। 5-6 दिन बाद मेरा भाई पूजा को लेने अल्लेपुर गया। मेरी बहन सावित्री ने मेरे भाई को बताया दिनाँक 18.06.18 को शाम के समय पूजा को सर्वेश ले गया था। फिर मेरा भाई आया मुझसे पूछताछ करने लगा मैं घर से भाग गया था। आज मैं अल्लेपुर अपनी बहन सावित्री के घर जा रहा  था  तभी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.