बदायूँ: एक सचिव सस्पेंड  एवं  तीन के वेतन आहरण पर रोकः डीएम

बदायूँः स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत गांवों को खुले से शौच मुक्त करने में लापरवाही पाए जाने पर सचिव उमेश पाल सिंह को सस्पेंड करने के निर्देश दिए तथा सचिव निशा सिंह, रजत कुमार एवं सुधीर कुमार के वेतन आहरण पर रोक लगा दी जाए। ओडीएफ करने के लिए जिन गांवो को प्रथम किस्त दे दी गई है उन गांवों का शेष कार्य तीन दिनों के अन्दर में पूर्ण करें।
गुरुवार को कलेक्ट्रेट स्थित सभा कक्ष में जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह ने ओडीएफ की बैठक आयोजित की। उन्होंने समस्त खंड विकास अधिकारियों को कड़े निर्देश दिए कि तीन दिनों में प्रत्येक विकासखंड में दो-दो हजार एमआईएस कर फोटो अपलोड करें। उन्होंने डीपीआरओ को निर्देश दिए कि सचिव उमेश पाल सिंह को तत्काल  सस्पेंड करने का आदेश दिया जाए तथा रजत कुमार एवं सुधीर कुमार का पूरे महीने का वेतन न दिया जाए। सचिव निशा सिंह तीन दिनों में तीन सौ एमआईएस कर फोटो अपलोड कर देती हैं, तो इनका वेतन आहरण कर दिया जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि विकासखंडों में प्रथम किस्त दे दी गई है, कार्य में सचिव लापरवाही करता है तो उसका वेतन न दिया जाए। उन्होंने डीपीआरओ तथा खंड विकास अधिकारियों को निर्देश दिए कि ओडीएफ में लगे अधिकारियों एवं कर्मचारियों को किसी भी दशा में आकाश न दिया जाए। उन्होंने समस्त  खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देश दिए कि प्रथम किस्त का शेष कार्य एक सप्ताह में पूर्ण करें। यह बहुत महत्वपूर्ण कार्य है इसमें सभी लोग युद्ध स्तर पर लगकर  कार्य को समय से पूर्ण करें। उन्होंने कहा कि जो भी अधिकारी कर्मचारी  कार्य में लापरवाही करेगा उसके विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी संदीप कुमार, जिला विकास अधिकारी सेवाराम चौधरी, पीडी डीआरडीए रामसिंह एवं डीपीआरओ राजीव कुमार मौर्य सहित अन्य अधिकारी मौजूद  रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.