बदायूँ: क्षत्रिय महासभा ने आयोजित की चेतना सभा।

बदायूँ: क्षत्रिय महासभा बदायूं द्वारा  सांगठनिक इकाईयों का विस्तार किए जाने के क्रम में ग्राम शुकरुल्लापुर ( सहसवान ) में चेतना सभा का आयोजन युवा क्षत्रिय महासभा के जिला अध्यक्ष अलंकार सिंह तोमर के संयोजन में चेतना सभा का आयोजन महाराणा प्रताप विकास ट्रस्ट के वरिष्ठ ट्रस्टी धनपाल सिंह  की अध्यक्षता में किया गया।
महासभा के प्रदेश मन्त्री डॉ सुशील कुमार सिंह ने कहा कि क्षत्रिय महासभा क्षत्रिय समाज के हित में निरन्तर कार्य कर रही है । प्रत्येक क्षत्रिय का यह दायित्व है कि वह महासभा की सदस्यता ग्रहण कर महासभा द्वारा समाज हित में संचालित योजनाओं का लाभ उठाये।
महासभा के जिला संरक्षक डॉ एस के सिंह ने कहा कि महासभा द्वारा सन्गठन के विस्तार के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में चेतना सभाएं आयोजित की जा रही है। महासभा के पदाधिकारी समाज के बीच जाकर समाज की आवाज सुनेंगे और महासभा की कार्यपद्धति व रीति नीति से परिचित करायेगे । महासभा का प्रयास है कि जनपद बदायूं का क्षत्रिय समाज आर्थिक व शैक्षिक रूप से समृद्ध बने।
सन्गठन का महत्व बताते हुए महासभा के जिला अध्यक्ष राकेश  सिंह ने कहा कि क्षत्रिय महासभा बदायूं के प्रयास से जनपद मुख्यालय पर महाराणा प्रताप की प्रतिमा स्थापित हुई। अन्य कई बड़ी उपलब्धियां महासभा ने प्राप्त की है। समाज के सहयोग से शीघ्र ही जिला मुख्यालय पर एक बहुउद्देशीय भवन के निर्माण का भी प्रयास चल रहा है। इस भवन से क्षत्रिय समाज को आर्थिक व शैक्षिक रूप से सबल बनाने हेतु योजनाएं संचालित की जाएगी। वर्तमान में जनपद भर में सन्गठन को गति प्रदान करने के लिए तहसील, विकास खंड,न्याय पंचायत व गांव स्तर पर बैठकों का दौर चल रहा है। बैठकों के माध्यम से सदस्यता भी प्रदान की जा रही है।
चेतना सभा में महासभा के जिला सन्गठन मन्त्री धर्म वीर सिंह एडवोकेट, जिला मंत्री अखिलेश चौहान, महाराणा प्रताप विकास ट्रस्ट के ट्रस्टी सुशील कुमार सिंह, डॉ के पी सिंह ने भी विचार व्यक्त किए।
सभा में  प्रमुख रूप से दीपक सिंह,अनेकपाल सिंह,सौरभ सिंह,प्रवीन कुमार सिंह, विभोर कुमार सिंह, जयकिशन चौहान,अवनेश सिंह, डॉ के पी सिंह, भानु सिंह, विशेष कुमार सिंह पुंडीर, विजय तोमर,ललतेश कुमार सिंह, राजवीर सिंह आदि उपस्थित रहे।
अन्त में चेतना सभा संयोजक अलंकार सिंह तोमर ने सभी का आभार व्यक्त किया। सभा का संचालन जिला महामंत्री वेदपाल सिंह कठेरिया ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.