बदायूँ: ग्रामीण स्वच्छता सर्वेक्षण के तहत गांवों को किया जाएगा स्वच्छ एवं सुन्दर

बदायूँ :  ग्रामीण स्वच्छता सर्वेक्षण के अन्तर्गत गांवो में विशेष साफ-सफाई अभियान चलाया जाएगा, जिसके तहत समस्त गांवों से आधा किलोमीटर रास्ते के दोनों ओर वृक्षारोपण किया जाएगा, साथ ही गांव शुरू होने से पूर्व गांव के नाम का बोर्ड भी लगाया जाएगा, जिससे किसी नए व्यक्ति को पता हो सके कि वह किस गांव में प्रवेश कर रहा है। इसके अलावा गांव के समस्त सार्वजनिक स्थल जैसे विद्यालय, मंदिर, आंगनबाड़ी केन्द्र पंचायतघर को रंगापुतवाकर सुन्दर बनाया जाएगा।
शुक्रवार को विकास भवन स्थित सभाकक्ष में जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह ने ग्रामीण स्वच्छता सर्वेक्षण की समीक्षा बैठक करते हुए निर्देश दिए कि नोडल अधिकारी गांव में स्वच्छता सम्बंधी बैठक आयोजित कर ग्रामीणों को जानकारी देते हुए बताएं कि शौचालय साफ-सुथरा रखें, शौच करने के बाद हाथ ल्यूकिड साबुन से धोएं। गांव में कहीं जल भराव, कूड़ा कचरा, घूरा आदि की समस्या उत्पन्न न होने पाए। इन तमाम जानकारियों की गांव में खुली बैठक की जाए और सभी गांव में इस अभियान के बारे में पूरे गांव वासियों को जानकारी दी जाए तथा इसके अनुसार साफ सफाई की व्यवस्था करा लें यदि कर्मचारी कम हो तो मजदूर लगा कर या अन्य मशीनों का उपयोग करके प्रत्येक दशा में गांव में 25 जुलाई से 31 जुलाई तक अभियान चलाकर गांव को साफ सुथरा बना दिया जाए। कोई नाली अगर टूटी है तो उसकी मरम्मत कर दी जाए एवं सड़क की मरम्मत की जाए। 25 से 31 जुलाई तक अभियान चलाया जाए और गांव में स्वच्छता के बारे में जानकारी दी जाए। शौचालय के उपयोग के बारे में शौचालय को साफ सुथरा रखने के बारे में पूरे गांव को जानकारी दी जाए। इस अभियान में ग्रामीणों का सहयोग लेकर उनको इनके बारे में विस्तार से बताया जाए। डीएम ने समस्त एडीओ पंचायत को निर्देश दिए कि गांवों में लगने वाली बाजारो में बाजार प्रबन्धकों से एक-एक स्वच्छ शौचालयों का निर्माण करवाएगे। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी संदीप कुमार, जिला विकास अधिकारी देवेन्द्र प्रताप, पीडी डीआरडीए राम सिंह, डीसी मनरेगा रामसागर यादव सहित समस्त खण्ड विकास अधिकारी एवं नोडल अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.