बदायूँ: देश की अस्मिता और सम्मान के प्रतीक हैं महाराणा प्रताप – बाबा हरदेव सिंह ।

बदायूँ: मेधावी छात्रों एवं विभिन्न क्षेत्रों में ख्यातिलब्ध विभूतियों को किया गया सम्मानित ।

महाराणा प्रताप विकास ट्रस्ट एवं क्षत्रिय महासभा बदायूं के संयुक्त तत्वावधान में परम्परागत रूप से हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी महाराणा प्रताप जयंती समारोह का आयोजन मालवीय आवास गृह बदायूं पर किया गया।सर्व प्रथम मुख्य अतिथि, विशिष्ट अतिथिगण,शेखूपुर विधायक धर्मेन्द्र सिंह शाक्य, पूर्व सदस्य विधान परिषद जितेंद्र यादव, जिला अध्यक्ष बसपा हेमेंद्र गौतम एवं जनपद भर से आए हुए सर्वसमाज के लोगों ने महाराणा प्रताप चौक पर स्थित महाराणा प्रताप की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया।

मालवीय आवास गृह बदायूं पर स्वागत , सम्मान और उद्बोधन का कार्यक्रम आयोजित किया गया।

मुख्य अतिथि बाबा हरदेव सिंह ने अपने सम्बोधन में कहा कि महाराणा प्रताप सर्वसमाज के आराध्य हैं, उन्हें किसी जाति अथवा धर्म में नहीं बांधा जा सकता है। आज़ का समय ज्ञान का समय है,ज्ञान को आगे और शस्त्र को पीछे रखकर ही स्वय का और समाज व राष्ट्र का भला किया जा सकता है। जिस समय पराक्रमवादी युग था उस समय के राजा सन्गठित नहीं थे, यदि राजागण सन्गठित होकर किसी शीर्ष सन्स्था का गठन करते तो भारतवर्ष गुलाम नहीं होता। महाराणा प्रताप सर्व समाज के सहयोग से ही महाराणा बने,हमे सर्व समाज को साथ लेकर चलने तथा सर्वसमाज को आदर प्रदान करने की पृवृति विकसित करनी होगी तभी महाराणा प्रताप के प्रति सच्चे अर्थों में हम आस्था व्यक्त कर सकेंगे। हमें पुनः पराक्रमवादी संस्कृति विकसित करनी पड़ेगी साथ ही इसकी अगुवाई भी हमें ही करनी पड़ेगी तभी हम एकता की भावना उत्पन्न करने में सफल हो सकेंगे।

विशिष्ट अतिथि सेवानिवृत्त ए डी एम रामवीर सिंह ने कहा कि महाराणा प्रताप के वास्तविक चरित्र को इतिहास में स्थान नहीं दिया गया। महाराणा प्रताप के जीवन दर्शन को पाठ्यक्रम में सम्मिलित किए जाने की जरूरत है ताकि नई पीढ़ी महाराणा प्रताप के जीवन से प्रेरणा ले सके।

कार्यक्रम को विशिष्ट अतिथि समाजसेवी व उद्योगपति राजीव कुमार सिंह राजू भैया , पूर्व विधायक अवनीश कुमार सिंह पप्पू भैया,विश्व हिन्दू परिषद के केन्द्रीय मार्गदर्शक मंडल के सदस्य पूज्य स्वामी दिव्यानंद योगीराज जी महाराज,स्वामी महेशानंद जी, आलोक कुमार सिंह सन्घर्षी, डॉ उमा सिंह गौर,प्रताप सिंह आचार्य, सीमा चौहान, ने भी सम्बोधित किया, अध्यक्षता प्रसिद्ध समाजसेवी व जनप्रिय चिकित्सक डॉ वी पी सिंह सोलंकी ने की,सन्चालन भूराज सिंह राजलायर ने किया तथा अन्त में महाराणा प्रताप विकास ट्रस्ट के अध्यक्ष हरि प्रताप सिंह राठौड़ एडवोकेट ने सभी का आभार व्यक्त किया।

कार्यक्रम में अधिवक्ता अरविंद सिंह परमार के पुत्र ध्रुव तोमर, जिसने हाईस्कूल की परीक्षा में प्रदेश में दसवां स्थान प्राप्त किया है,को भी सम्मानित किया गया साथ ही विशिष्ट सामाजिक योगदान के लिए सुरेश चंद्र गुप्ता, आजाद सक्सेना, नरसिंह आर्य, मनसुखलाल गुप्ता, श्यामपाल सिंह, आनन्द सिंह वैस, राजेन्द्र सिंह तोमर, वीरेन्द्र जाटव, जीतेश एन लाल, रामगोपाल, सचिन सूर्यवंशी को सम्मानित किया गया। वर्ष 2018 का भामाशाह सम्मान जनपद के प्रमुख समाजसेवी व उद्योगपति सुवोध कुमार गोयल को मुख्य अतिथि द्वारा प्रदान किया गया।

जनपद के प्रमुख सामाजिक संगठनों युवा मंच,सन्त रविदास सेवा न्यास, प्रधान संघ,वी डी सी महासंघ, गोस्वामी तुलसीदास स्मारक ट्रस्ट, भारतीय एकता परिवार, भारतीय सन्गोष्ठक एवं भारतीय क्षत्रिय महासेना का भी सहयोग कार्यक्रम में रहा।

कार्यक्रम में प्रमुख रूप से सुशील कुमार सिंह, राकेश सिंह, विजय पाल सिंह, रामप्रताप सिंह, सतेन्द्र सिंह, विपिन कुमार सिंह, दिनेश कुमार सिंह एडवोकेट,आई पी सिंह, टीकम सिंह, देवी सिंह देवड़ा, वीरेन्द्र सिंह तोमर, ओमकार सिंह तोमर,सन्ग्राम सिंह, डॉ एस के सिंह,सत्यवीर सिंह, धर्मेंद्र सिंह, शैलेन्द्र कुमार सिंह, अखिलेश चौहान, वेदपाल सिंह कठेरिया, नरेंद्र सिंह, पुलकित सिंह,भवेश प्रताप सिंह, धनपाल सिंह आदि प्रमुख रूप से उपस्थित र

Leave a Reply

Your email address will not be published.