बदायूँ: नौकरी व रुपये के लालच में बेटे ने अपने साथी के संग मिलकर मां को उतारा मौत के घाट।

बदायूँ: दातागंज क्षेत्र के ग्राम पापड़ में तालाब के किनारे एक महिला का शव मिलने की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची जहाँ मृतका की शिनाख्त श्रीमती सुशीला देवी पत्नी स्वर्गीय सोहन लाल निवासी पापड़ उम्र 55 वर्ष के रूप में हुई जो PWD विभाग बदायूं में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी थी और बदायूं में ही सरकारी आवास में निवासरत थी । हत्या के संबंध में मृतका के पुत्र  मुन्ना लाल पुत्र सोहनलाल ने लिखित तहरीर देकर थाना दातागंज पर मु0अ0सं0 348/18 धारा 302/201 आईपीसी बनाम अज्ञात पंजीकृत कराया । वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने महिला की हत्या का अनावरण जल्द से जल्द करने हेतु थानाध्यक्ष दातागंज को निर्देशित किया । मृतका के दो पुत्र मुन्नालाल व राजीव है मुन्ना लाल सफाई कर्मचारी है तथा राजीव कुछ भी काम धाम नहीं करता व अपने 06 बच्चों व पत्नी के साथ गांव में ही रहता है मुकदमे की विवेचना के दौरान थानाध्यक्ष दातागंज इंद्रेश कुमार द्वारा  साक्ष्य के आधार पर मृतका के छोटे लड़के राजीव को गिरफ्तार किया । जिसने पूछताछ के दौरान बताया कि मुझे मेरे गांव के दीनानाथ पुत्र श्यामलाल कश्यप ने सलाह दी थी कि तू अपनी मां को मार दे तो तुझे नौकरी मिल जाएगी और 500000/- भी मिलेंगे । वह500000/- तू मुझे दे देना और नौकरी तू ले लेना । यह योजना हत्या के कई दिन पहले बनाई गई थी। दिनांक 15/06/2018 को अभियुक्त राजीव ने अपनी मां सुशीला देवी को फोन करके गांव घूमने के लिये बुलाया था ।15 तारीख की शाम को सुशीला देवी प्रधान सूरजपाल के यहां गीतों में गई वहां से 9:30 बजे करीब घर वापस लौटी । तो राजीव व दीनानाथ ने शराब पीकर अपनी योजना को अंजाम देने का फैसला कर रखा था और मां से कहा कि घर पर रिश्तेदार आए हैं उनसे बात कर लो जब मां पहुंची तो दीनानाथ ने सुशीला देवी को धक्का मारा जिससे पास रखी ईटों पर मृतका गिरी और पसली टूट गई। फिर राजीव व दीनानाथ ने नौकरी व रुपये के लालच में अपनी मां की गला दबाकर हत्या कर शव को तालाब के किनारे फेंक दिया। राजीव पहले भी एक दो बार शराब के नशे में अपनी मां के साथ मारपीट कर चुका था और वर्ष पूर्व थाना सिविल लाइन से बैट्री चोरी में जेल भी जा चुका है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.