बदायूँ: पद्म विभूषण गोपालदास नीरज को बदायूँ क्लब की हार्दिक श्रद्धांजलि।

बदायूं:  रूमानियत और श्रृंगार के कवि माने जाने वाले पद्म विभूषण गोपालदास नीरज के दुखद निधन पर आज बदायूं क्लब द्वारा शोक सभा आयोजित कर श्रद्धांजलि दी गई। इस अवसर पर उपाध्यक्ष डा. एस. के. गुप्ता ने कहा, कि हिंदी काव्य जगत में बदायूं की शान रहे कवि स्व. उर्मिलेश शंखधार व स्व. ब्रजेन्द्र अवस्थी से उनकी काफी नजदीकियां रहीं। यही वजह थी कि बदायूं क्लब में आयोजित कई कवि सम्मेलन व अन्य आयोजनों में उनकी विशेष आमद रही। वरिष्ठ सदस्य गोपाल मिश्र ने कहा, पद्म श्री गोपाल दास नीरज हिंदी साहित्य के क्षितिज पर दैदीप्यमान एक ऐसा ध्रुव तारा जिस पर सम्पूर्ण साहित्य जगत, हिन्दी व हिन्दुस्तान को सदैव गर्व रहेगा। क्लब के सचिव अक्षत अशेष ने कहा कि हम सौभाग्यशाली हैं कि उन्होंने बदायूँ महोत्सव मे आकर आशीर्वाद देकर गौरव प्रदान किया और सम्पूर्ण बदायूँ को गौरवान्वित होने का अवसर दिया। यही अपराध मैं हर बार करता हूं, आदमी हूं आदमी से प्यार करता हूं…’ कारवां गुजर गया गुबार देखते रहे’…खटमल धीरे से जाना खटियन में…जैसे दिल को छू लेने वाले गीत लिखने वाले हिंदी की शान नीरज जी को जिले के वरिष्ठ साहित्यकार व कवि डा0 रामबहादुर व्यथित,अशोक खुराना, दीपक सक्सेना, रविन्द्र मोहन सक्सेना, नरेश शंखधार, अनूप रस्तोगी, सुधांशु शमा, आदि ने श्रद्धांजलि दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.