बदायूँ: बाढ़ग्रस्त गांवों को सुरक्षित स्थानों पर बसाया जाए : डीएम

बदायूँः तहसील सहसवान के अर्न्तगत बाढ़ से प्रभावित गांव परौटी के पीड़ित लोगों की जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह ने समस्याएं सुनीं। उन्होंने सम्बंधित विभागों को निर्देश दिए कि बाढ़ पीड़ित व्यक्तियों की हर हाल में मदद की जाए। किसी प्रकार जनहानि नहीं होना चाहिए। तहसीलदार और लेखपाल जमीन चिन्हित कर ग्रामीणों को बसाएं। उन्होंने तत्काल परेशान गर्भवती महिला को निजी गाड़ी से अस्पताल भेजकर भर्ती कराया एवं मोमवत्ती एवं मॉस्कीटो क्वाइल मंगवाकर बंटवाने के निर्देश दिए एवं पशुओं के लिए चारा उपलब्ध कराया जाए।
मंगलवार को जिलाधिकारी ने खाद्यान्न पैकेट को खुलवाकर एक एक वस्तु को चेक किया। उन्होंने अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व महेन्द्र सिंह को निर्देश दिए कि बाढ़ग्रस्त गांवों में जाकर राहत सामग्री वितरित कराएं। इसमें 10 किलो आटा, 10 किलो चावल, 10 किलो आलू, 2 किलो दाल, भुजे चना दो किलो, बिस्कुट पारलेजी 10 पैकेट, रिफाइंड एक लीटर, नमक एक किलो, मोमबत्ती एक पैकेट, हल्दी ढाई सौ ग्राम, मिर्च ढाई सौ ग्राम, धनिया ढाई सौ ग्राम, माचिस एक पैकेट तथा परमल 5 किलो राहत सामग्री उपलब्ध हो। उन्होंने कहा कि बाढ़ पीड़ितों को किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं होने दी जाएगी। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टरों को निर्देश दिए कि गांवों में मलेरिया की दवाई बराबर वितरित करें तथा  गांवों में  एंटी लार्वा  दवाई की फागिंग  प्रतिदिन की जाए  जिससे मच्छर  न पनप सके। गांव में कहीं भी जलभराव न होने दें। कहीं भी जलभराव दिखता है तो उसमें तत्काल जला हुआ मोबीआइयाल डाल दे। रात में सोते समय सभी लोग मच्छरदानी का प्रयोग करें। उन्होंने गांव के लोगों को साफ सफाई रखने के निर्देश दिए और कहा कि कोई भी व्याक्ति रास्ते में जानवर न बांधे। सभी लोग स्वयं तथा अपने आस पड़ोस में सफाई रखें। इस समय सभी लोग पानी उबालकर एवं क्लोरीन की गोली डाल कर इस्तेमाल करें। डीएम ने लोगों की समस्याएं सुनी। गांव वालों ने कहा कि इस परेशानी से हमेशा के लिए किसी दूसरे सुरक्षित स्थान पर बसा दिया जाए। डीएम ने कहा कि समस्त बाढ़ से प्रभावित क्षेत्रों के लोगों को सुरक्षित स्थान पर डेढ़-डेढ़ सौ गज जगह देकर  बसा दिया जाएगा जिससे उन्हें बाढ़ से हमेशा के लिए छुट्टी मिल सकेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.