बदायूँ: रास्ते में घूरा डालने एवं जानवर बांधने वालों पर होगी कार्रवाई।

बदायूँः जनपद के समस्त बाजारों में स्वच्छ शौचालयों का निर्माण एवं समस्त एएनएम सेंटरों की रंगाई पुताई का कार्य 5 अगस्त तक पूर्ण कर लिया जाए। गांव के मुख्य मार्ग पर 5 वाई 3 फीट का बोर्ड लगाया जाए। ग्राम प्रधान स्वच्छता कार्य में रुचि नहीं लेगा उसके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। गांवों के प्रवेश द्वार पर घूरा एवं जानवर बांधने वाले लोगों पर कड़ी कार्रवाई की जाए। 15 दिनों तक बराबर श्रमदान का कार्य गांव में चलता रहे। 5 अगस्त को फिर से सभी गांव में श्रमदान का महा अभियान चलाकर साफ सफाई कराई जाए।
सोमवार को कलेक्ट्रेट स्थित सभागार में जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह की अध्यक्षता में विकासखंड इस्लामनगर, दहगवां, सहसवान, आसफपुर, बिसौली एवं वजीरगंज के ग्राम प्रधानों एवं पंचायत सचिवों के साथ शिक्षा स्वच्छता एवं वृक्षारोपण के संबंध में बैठक आयोजित की। बैठक में ग्राम प्रधान की उपस्थिति कम होने पर असंतोष व्यक्त किया। उन्होंने जिला पंचायत के अपर मुख्य अधिकारी को निर्देश दिए कि जनपद के समस्त बाजारों में गुणवत्ता पूर्वक स्वच्छ शौचालय 5 अगस्त तक निर्माण कार्य पूर्ण करा ले। स्वच्छ शौचालय पर बाजार के दिन कम से कम दो सफाई कर्मी रखे। बाजार में आने वाले लोग इधर-उधर गंदगी न फैलाएं शौचालय का ही प्रयोग करें। डीएम ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी आसाराम को निर्देश दिए कि पाँच अगस्त तक सभी एएनएम सेंटरों पर रंगाई-पुताई एवं मरम्मत का कार्य पूर्ण कर लें। एमओआईसी के साथ इन सभी सेंटरों पर प्रधान को बुलाकर सभी समस्याओं का निस्तारण करें। उन्होंने कहा कि एमओआईसी तत्काल निर्देशित करें कि तिथिवार एएनएम, आशा आंगनवाड़ी कार्यकत्री सभी सेंटरों पर बैठे। उन्होंने कहा कि सभी सेंटरों पर वजन मशीन बैठने के लिए कुर्सियां, तखत, एवं मेज आदि समस्त व्यवस्थाएं पूर्ण होनी चाहिए। जो एएनएम कार्य में लापरवाही करें उसे तत्काल सस्पेंड करें। गांव के सभी सेंटरों पर साफ सफाई आदि की व्यवस्था चाक चौबंद होनी चाहिए। जिलाधिकारी ने कहा कि जो प्रधान इन सभी कार्यों में रुचि लेकर कार्य नहीं करेगा उसके विरुद्ध कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने प्रधानों को निर्देश दिए कि जो ग्राम प्रधान गांव के मुख्य मार्ग पर बोर्ड लगा दिया है या बनवा लिया है उनको छोड़कर शेष बच्चे ग्राम प्रधान अब मुख्य मार्ग तथा गांव के प्रवेश द्वार पर 5 वाई 3 फीट का बोर्ड लगाएं उसमें गांव तथा अपना ही नाम लिखवाएं। प्रवेश द्वार पर सड़क के दोनों तरफ लाइन से 500 मीटर तक वृक्षारोपण किया जाए तथा एक दूसरे वृक्ष के बीच की दूरी 5 मीटर रखी जाए। प्रत्येक गांव में पेड़ बचाने के लिए 3 महीने के लिए एक मजदूर रखा जाए उसकी मजदूरी मनरेगा से दी जाएगी। प्रत्येक ग्राम प्रधान दो मजदूर 15 दिन के लिए रखकर गांव में सफाई तथा पेड़ पौधों की व्यवस्था कराएं। उन्होंने कहा कि गांवों में वृक्षारोपण सभी लोगों से कराया जाए, सभी लोग पेड़ पौधों की सुरक्षा करेंगे। समस्त गांवों में वृक्षारोपण कर जश्न एवं उत्साह के रुप में मनाया जाए। समस्त ग्राम प्रधान यह सुनिश्चित करें कि कोई भी बच्चा स्कूल जाने से वंचित नहीं रहेगा। शत-प्रतिशत बच्चे विद्यालय पढ़ने जाना चाहिए। गांव के प्रवेश द्वार पर घूरा डालने वाला तथा सड़क पर जानवर बांधने वाले लोगों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इस अवसर पर पीडी डीआरडीए राम सिंह एवं डीसी मनरेगा राम सागर यादव सहित प्रधान उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.