बदायूँ: सांसद धर्मेन्द्र यादव ने आज लोकसभा में शिक्षा प्रेरकों,शिक्षा मित्रों व बेरोजगारों का मुद्दा उठाया।

बदायूँ: समाजवादी पार्टी से बदायूँ लोकसभा क्षेत्र के सांसद मा0 धर्मेन्द्र यादव ने आज लोकसभा में शिक्षा प्रेरकों,शिक्षा मित्रों व बेरोजगारों का मुद्दा बहुत ही ज़ोर शोर से उठाया।
इस दौरान मा0 धर्मेन्द्र यादव ने कहा कि पूरे भारत वर्ष में कई लाख व अकेले उत्तर प्रदेश में एक लाख शिक्षा प्रेरक भारत सरकार के साक्षरता मिशन के माध्यम से शिक्षा के क्षेत्र में कार्य कर रहे हैं,जिनकी सेवाएं 31 मार्च 2018 को समाप्त कर दी गईं हैं,आगे कहा कि जिस समय शिक्षा प्रेरक आंदोलन कर रहे थे मा0 गृह मंत्री ने लखनऊ में उन्हें आश्वासन दिया था कि उनकी सेवाओं को बहाल किया जाएगा।जल्दी से जल्दी उन शिक्षा प्रेरक को बहाल किया जाए और इसी के साथ साथ अभी तक उनका लगभग 656 करोड़ रुपए मानदेय बकाया है जिसका शीघ्रता से भुगतान किया जाए,उनकी सेवाओं का विस्तार किया जाए।
देश आज अत्यधिक बेरोज़गारी के संकट से जूझ रहा है,उत्तर प्रदेश के शिक्षा मित्र,रोज़गार सेवक,साक्षरता प्रेरक बेरोजगार हो गए हैं और दूसरी तरफ केंद्र सरकार लगातार युवाओं को रोजगार देने का खोखला दावा कर रही है।मैं इस सदन के माध्यम से केंद्र सरकार से कहना चाहता हूं कि जल्द से शिक्षा प्रेरकों,शिक्षा मित्रों,रोज़गार सेवक,साक्षरता प्रेरकों सहित देश के युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.