बदायूँ:  हर गरीब के घर में रोशन हो उजाला : डीएम

बदायूँ : डीएम की मंशा है कि हर गरीब के घर में उजाला रोशन रहे। गांव में भी बिजली आपूर्ति रहे। उनका कहना है कि गांवों में अक्सर देखा जाता है कि कहीं ढिबरी जल रही है, तो कहीं लालटेन। गरीब परिवारों में आज भी शाम के बाद बच्चों को लालटेन की रोशनी में पढ़ने में दिक्कत होती है। घर की महिलाएँ खाना अंधेरे में बनाती हैं या फिर लालटेन की रोशनी का प्रयोग किया जाता है, जिससे उनकी नजर पर काफी असर पड़ता है। इन्ही सब समस्याओं की दूर करने के लिए सरकार ने सौभाग्य योजना लागू की है।
बुधवार को कलेक्ट्रेट स्थित सभाकक्ष में जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह ने अधिशासी अभियन्ता विद्युत प्रथम अताउर्रज़फर के साथ सौभाग्य योजना की बैठक की। डीएम ने कहा कि प्रत्येक लाभार्थी को विद्युत कनेक्शन, केबिल, मीटर, बोर्ड, एलईडी बल्ब, बोर्ड तथा होल्डर निःशुल्क दिया जा रहा है। ग्रामीण किसी दलाल के चक्कर में न पड़े। अगर कोई पैसे मांगे तो तुरन्त उनके मोबाइल नम्बर पर इसकी सूचना दें। यह योजना पूरी तरह से निःशुल्क है। अपने बच्चों को पढ़ा-लिखाकर एक अच्छा इंसान बनाएं। बच्चों को स्कूल अवश्य भेजें। खेतों व अन्य स्थानों पर काम करने से बच्चे का भविष्य खराब हो जाता है। उन्होंने विद्युत विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि अधिशासी अभियन्ता विद्युत की उपस्थिति में 18 जून से घर-घर जाकर बिजली के कनेक्शन का सर्वे किया जाएगा। इसके तहत प्रत्येक घर को निःशुल्क विद्युत कनेक्शन देकर सौभाग्य योजना से जोड़ा जाए तथा गांव में शिविर लगाकर विद्युत सामग्री वितरित की जाए। गांवों के प्रधान, पंचायत अधिकारी, आशा और लेखपाल को इसकी सूचना अवश्य दे दें कि उनके गांव में कब और कहां शिविर लगाया जाएगा, जिससे कि गांव में अच्छे से इस योजना की जानकारी लोगों को मुहैया हो सके। शिविर का उद्घाटन गांव के प्रधान से अवश्य कराया जाए। इन कार्यां की समीक्षा बैठक प्रत्येक सप्ताह में आयोजित की जाएगी। इस अवसर पर
अधीक्षण अभियन्ता मधुप श्रीवास्तव, अधिशासी अभियन्ता विद्युत द्वितीय एमके अहिरवाल, बजाज इलैक्ट्रॉनिक्स से राकेश सिंघानिया और टाटा पॉवर से पुनीत चौहान मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.