बदायूँ: पटाखों का लाइसेंस जारी करने से पहले स्थल का करें निरीक्षण: डीएम

बदायूँ: जिलाधिकारी कुमार प्रशान्त ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संकल्प शर्मा, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व नरेन्द्र बहादुर सिंह, अपर जिलाधिकारी प्रशासन ऋतु पुनिया, एसपी सिटी प्रवीण सिंह चैहान, सिटी मजिस्ट्रेट अमित कुमार, सीओ सिटी विनय कुमार द्विवेदी सहित समस्त उपजिलाधिकारी, पुलिस क्षेत्राधिकारियों एवं अन्य जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ गुरुवार को कलेक्ट्रेट स्थित सभागार में पटाखों की दुकानों, एंटी भूमाफिया, कर-करेत्तर, धान एवं मक्का खरीद के सम्बंध में बैठक आयोजित की।
डीएम ने निर्देश दिए कि पटाखों के लिए लाइसेंस जारी करने से पहले नगर पालिका एवं नगर पंचायतों में उप जिलाधिकारी पुलिस क्षेत्राधिकारियों एवं अधिशासी अधिकारियों के साथ के साथ जाकर पटाखा दुकानों के लिए ऐसे स्थान का चयन करें जो आवासीय बस्ती से दूर हो एवं सुरक्षित हों। चिन्हित स्थल पर साफ-सफाई, लाइट आदि की व्यवस्था रहे। पटाखा विक्रय स्थल पर फायर बिग्रेड, पानी के टैंकर की उपलब्धता के लिए कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई जाए। अत्यधिक आवाज वाले पटाखों का विक्रय प्रतिबंधित रहेगा, साथ ही यह भी सुनिश्चित करें कि कहीं घरों में पटाखे बनाए न जा रहे हों और न ही इसका भण्डारण हो रहा हो। त्योहारों को दृष्टिगत रखते हुए खाद विभाग के अधिकारी खाद उत्पादों की दुकानों का नियमित रूप से निरीक्षण करते हुए नमूने भरते रहें, कहीं भी मिलावटी खाद पदार्थ नहीं बिकने चाहिए। आबकारी विभाग सुनिश्चित करें कि कहीं भी न तो अवैध रूप से शराब बनाई जाए और न ही बिकने पाए। यातायात व्यवस्था को बनाए रखने के लिए आॅटो रिक्शा स्टैण्ड, वेण्डर जोन को व्यवस्थित कर चलवाएं। व्यवस्था हो तो बड़े वाहनों का रूट डायवर्ट कर दिया जाए। कहीं भी वाहन पार्किंग के नाम पर अवैध वसूली न होने पाए, यदि कहीं वसूली का प्रकरण सामने आए तो ऐसे लोगों के विरुद्ध कार्यवाही कर जेल भेजा जाए। उन्होंने कहा कि पंचायत चुनावों को दृष्टिगत रखते हुए उपजिलाधिकारी मतदान स्थलों पर व्यवस्थाओं का निरीक्षण कर लें, साथ ही कार्यवाही भी की जाए। सभी उपजिलाधिकारी, पुलिस क्षेत्राधिकारी एवं थानेदार सुनिश्चित करें कि भूमाफिया की कायवाही को पोर्टल पर अपलोड किया जाए। जहां सरकारी भूमि पर अवैध कब्जे किए गए हैं, उन लोगों को एंटी भूमाफिया घोषित व कब्जा मुक्त कराकर उनपर कार्यवाही की जाए। आबकारी एवं वाणिज्य कर विभाग विशेष ध्यान देकर राजस्व वसूली बढ़ाए। सभी विभाग लक्ष्य के सापेक्ष राजस्व वसूली में तेजी लाएं। धान क्रय केन्द्रांे पर किसानों से धान का नमूना लिया जाए, सैम्पल मानक के अनुसार होने पर किसानों को टोकन जारी कर उनके धान क्रय किए जाएं। क्रय केन्द्रांे पर वारदाना की कोई कमी न हो एवं केन्द्रों पर उपजिलाधिकारी, जिला प्रभारी, जिला विपणन अधिकारी समय-समय पर निरीक्षण करते रहें। किसानों को धान बेचने में किसी प्रकार की समस्या न होने पाए। क्रय केन्द्रांे पर समय से धान उठान हो और समय से किसानों का भुगतान किया जाए। यह भी सुनिश्चित करें कि जहां धान व मक्का की प्राइवेट खरीद हो रही है, वहां किसानों को एमएसपी से कम मूल्य न मिले। म्याऊं, लाभारी, कुंवरगांव एवं बिल्सी सहित जनपद में मक्का के 4 क्रय केन्द्र हैं, जहां किसान अपनी मक्का बेच सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.