बदायूँ: बिना रिफलेक्टर लगे भारी वाहनों में डीजल न दें पैट्रोल पम्प: डीएम

बदायूँ: जिलाधिकारी कुमार प्रशान्त की अध्यक्षता में कलैक्ट्रेट स्थित सभागार में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम, 2013 के अन्र्तगत, जिला स्तरीय सर्तकता समिति की बैठक आयोजित की गई। बैठक में जिला पूर्ति अधिकारी रामेन्द्र प्रताप सिंह द्वारा राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम-2013 के क्रियान्वयन के सम्बन्ध में विस्तार से अवगत कराया गया कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम-2013 के अन्र्तगत शहरी क्षेत्र में 64.43 प्रतिशत एवं ग्रामीण क्षेत्र में  79.56 प्रतिशत आबादी को आच्छादित किया जाना है। जिसके क्रम में शहरी क्षेत्रों में 62.89 प्रतिशत (82336 परिवार 373310 यूनिट) एवं ग्रामीण क्षेत्रों में 72.85 प्रतिशत (432169 परिवार 1852482 यूनिट) जनसंख्या को आच्छादित किया जा चुका है। वर्तमान में एस0एस0डी0जी से माध्यम से राशनकार्ड बनवाने हेतु प्राप्त आवेदन-पत्रों के सत्यापन का कार्य चल रहा है। अवशेष लक्ष्य को शीघ्र ही पूर्ण कर लिया जायेगा। जनपद में 44581 अन्त्योदय राशनकार्ड एवं 142748 यूनिट प्रचलित है। जनपद को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम-2013 के अन्र्तगत 6188.781 मै0टन गेहॅूूं एवं 4125.854 मै0टन चावल आवंटित है जिसका वितरण पर्यवेक्षण अधिकारियों की उपस्थिति में लाभार्थी परिवारों में प्रति यूनिट 3.00 कि0ग्रा0 गेहॅूूं रू0 2.00 प्रति किलो एवं 2.00 कि0ग्रा0 चावल रू0 3.00 प्रति किलो की दर से कराया जा रहा है। जनपद को अन्त्योदय योजना के अन्र्तगत 904.420 मै0टन गेहॅूूं एवं 678.315 मै0टन चावल आवंटित है जिसका अन्त्योदय परिवारों को प्रति राशनकार्ड 20 कि0ग्रा0 गेहॅूूं रू0 2.00 प्रति किलो एवं चावल 15 कि0ग्रा0 रू0 3.00 प्रति किलो की दर से वितरण कराया जा रहा है।
  जनपद में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अन्र्तगत माह अप्रैल, 2020 से निरन्तर पी0एच0एच0 एवं अन्त्योदय कार्डधारकों को निःशुल्क खाद्यान्न एवं चने का वितरण कराया जा रहा है। माह नवम्बर, 2020 हेतु जनपद को पी0एम0जी0के0वाई0 योजना के अन्र्तगत कुल 10989.380 मै0टन गेह तथा 508.760 मै0टन चना आवंटित किया गया है। गेह का वितरण दिनांक 21-11-2020 से पर्यवेक्षण अधिकारियों की उपस्थिति में प्रत्येक पी0एच0एच0 एवं अन्त्योदय कार्डधारकों को प्रति यूनिट 05 कि0ग्रा0 की दर से तथा चने का वितरण प्रत्येक पी0एच0एच0 एवं अन्त्योदय राशनकार्ड पर 01 कि0ग्रा0 प्रति राशनकार्ड की दर से निःशुल्क कराया जायेगा। जिला पूर्ति अधिकारी, बदाय द्वारा अवगत कराया गया कि जनपद में प्रतिमाह ई-पाॅस मशीन से खाद्यान्न का वितरण कराया जा रहा है। जिला स्तरीय समिति की गत बैठक के आंकडों के अनुसार तत्समय जनपद में कुल 82.78 प्रतिशत ट्राॅजिक्शन हो रहा था, जिसमें 94.94 प्रतिशत आधार प्रमाणीकरण से तथा 5 प्रतिशत प्राॅक्सी से खाद्यान्न का वितरण हो रहा था। वर्तमान में 92.72 प्रतिशत ट्राॅंजिक्शन हो रहा है जिसमें 98.87 प्रतिशत आधार प्रमाणीकरण से तथा 1.13 प्रतिशत प्राॅक्सी से वितरण हो रहा है। इस प्रकार उक्त व्यवस्था में सुधार हुआ है। जिलाधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया कि जनपद में अधिक से अधिक आधार प्रमाणीकरण से वितरण कराया जाय तथा जिन राशनकार्डधारकों का आधार प्रमाणीकरण नहीं हो पा रहा है उन्हें नियमानुसार ओ0टी0पी0 के माध्यम से नामित नोडल अधिकारी की उपस्थिति में ही आवश्यक वस्तुओं का वितरण किया जाये तथा ओ0टी0पी0 के माध्यम से वितरित राशनकार्डो के अभिलेख सुरक्षित रखें जाये। जनपद में वर्तमान में अन्त्योदय एवं पी0एच0एच0 योजना के कुल 514525 राशनकार्ड एवं 2225989 यूनिट प्रचलित है जिसके सापेक्ष कुल 2149267 यूनिटों के आधारकार्डो की सीडिंग करायी जा चुकी है जो कि 97.74 प्रतिशत है। आधार सीडिंग में गत बैठक से 15.31 प्रतिशत की बढोत्तरी हुयी है। आधार सीडिंग में पी0एच0एच0 की अपेक्षा अन्त्योदय राशनकार्डो में आधार सीडिंग की स्थिति खराब है। इस सम्बन्ध में जिलाधिकारी द्वारा अप्रसन्नता व्यक्त करते हुये बैठक में उपस्थित समस्त पूर्ति निरीक्षकों को निर्देशित किया गया कि वह अपने-अपने क्षेत्रान्तर्गत ऐसे समस्त अन्त्योदय राशनकार्डधारक जिनके आधार सीड नहीं है उन्हें नोटिस निर्गत दिनांक 31-12-2020 तक शत प्रतिशत आधार सीड कराया जाना सुनिश्चित करें यदि उक्त के उपरान्त भी आधार सीड नहीं होते है तो ऐसे समस्त अन्त्योदय राशनकार्डधारकों का व्यक्तिगत रूप से सत्यापन कर आधार सीड नहीं होने का कारण ज्ञात कर सूची बनाये और उसे अपने कार्यालय में सुरक्षित रखें। जिला पूर्ति अधिकारी, बदाय अवगत कराया गया कि माह अप्रैल, 2020 से अबतक कुल 44 उचितदर की दुकानें निलम्बित हुयी है, जिनमें से 28 उचितदर की दुकानें निरस्त की गयी है तथा 08 उचितदर की दुकानें बहाल की गयी, वर्तमान में 08 उचितदर की दुकानें निलम्बित चल रही है। जिलाधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया कि निलम्बित चल रही उचितदर की दुकानों पर तत्काल निर्णय लेते हुये इनका निस्तारण किया जाये साथ ही कोई भी उचितदर की दुकान एक माह से अधिक समय तक निलम्बित न रहने पाये तथा भविष्य वही उचितदर की दुकान निलम्बित की जाये जहाॅं गम्भीर अनियमिततायें हो तथा दुकान निरस्त करने के पर्याप्त साक्ष्य उपलब्ध हो। जिला पूर्ति अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि माह अप्रैल, 2020 से अबतक कुल 46 ग्रामों में नवीन उचितदर विक्रेताओं की नियुक्ति हुयी है जिसमें से 15 ग्रामों में स्वंय सहायता समूह के सदस्यों को उचितदर की दुकान आवंटित की गयी है। जिलाधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया कि रिक्त ग्रामों में तत्काल नवीन उचितदर विक्रेताओं की नियुक्ति करायी जाये, किसी भी दशा में सम्बद्धीकरण एक माह से अधिक समय तक न चलने पाये। इस सम्बन्ध में जिला पूर्ति अधिकारी, बदाय द्वारा तत्काल रिक्त ग्रामों में नवीन उचितदर विक्रेता की नियुक्ति हेतु तिथियाॅं निर्धारित कराये जाने के निर्देश सम्बन्धित लिपिक को दिये गये। जिला पूर्ति अधिकारी, द्वारा अवगत कराया गया कि समस्त तहसीलों में ब्लाक स्तरीय एवं उचितदर दुकान स्तरीय सर्तकता समितियों का गठन किया जा चुका है। बैठक में उपस्थित पूर्ति निरीक्षकों द्वारा अवगत कराया गया कि उनकी तहसीलों में ब्लाक स्तरीय एवं दुकान स्तरीय सतर्कता समिति की बैठके करायी जा रही है। जिलाधिकारी द्वारा बैठक में उपस्थित पूर्ति निरीक्षकों को निर्देशित किया गया कि वह नियमानुसार निर्धारित समयान्र्तगत उक्त समितियों की बैठक का आयोजन कराया जाना सुनिश्चित करें तथा बैठक में उपस्थित नामित समस्त सदस्यों को उनके अधिकारों से भी अवगत करायें। जिला पूर्ति अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि माह अप्रैल, 20 से माह अक्टूबर, 20 तक कुल 10 दोषियों के विरूद्ध प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज करायी गयी है, 44 उचितदर की दुकानें निलम्बित, 54 उचितदर की दुकानें निरस्त एवं रू0 337000/- की प्रतिभूति जब्त की गयी है। जिला पूर्ति अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि जनपद में अपर जिलाधिकारी, (प्रशा0) को जिला शिकायत निवारण अधिकारी नामित किया गया है। विभाग का टोल फ्री नम्बर 1800-1800-150 व 1967 है जो जनपद की समस्त उचितदर की दुकानों पर प्रदर्शित है कोई भी व्यक्ति उक्त नम्बरों पर अपनी शिकायत दर्ज करा सकता है। उक्त के अतिरिक्त जिलाधिकारी द्वारा अवगत कराया गया है कि जनपद में शिकायतों के निवारण हेतु जिला स्तर पर कन्ट्रोल रूम स्थापित है जिसका नम्बर 05832-266949 है। बैठक में उपस्थित धीरेन्द्र कुमार गुप्ता, अध्यक्ष, नगर पंचायत उसांवा द्वारा नगर क्षेत्रों में वितरण प्रणाली पर निगरानी हेतु यह अधिकार दिये जाने का अनुरोध किया गया कि विक्रेता को उनके द्वारा प्रमाण-पत्र निर्गत किये जाने के उपरान्त ही अग्रिम माह का खाद्यान्न निर्गत किया जाये। इस सम्बन्ध में जिला पूर्ति अधिकारी द्वारा शासनादेश में इस प्रकार का कोई उल्लेख न होने के कारण यह अधिकार दिये जाने में असमर्थता व्यक्त की गयी। रवीन्द्र दीक्षित, सदस्य द्वारा अवगत कराया गया कि जनपद में खाद्यान्न वितरण में काफी सुधार हुआ है तथा और सुधार कराये जाने की आवश्यकता है। रवीन्द्र दीक्षित द्वारा अवगत कराया गया कि अभी भी कही-कही उचितदर विक्रेता निर्धारित मूल्य से अधिक मूल्य वसूल रहें है, इसी आशय की शिकायत अजय कुमार पाराशरी, सदस्य द्वारा की गयी। इस सम्बन्ध में जिला पूर्ति अधिकारी द्वारा वितरण के सम्बन्ध में जनपद स्तर पर अपनायी जाने वाले तन्त्र के सम्बन्ध में विस्तृृत रूप से अवगत कराते हुये अवगत कराया गया कि आवश्यक वस्तुओं का वितरण कराने हेतु जिला स्तर से प्रत्येक उचितदर की दुकान पर नोडल अधिकारी नामित किये जाते है तथा इनकी क्रास चैकिंग हेतु जिला स्तरीय अधिकारियों को नामित किया जाता है। जिलाधिकारी द्वारा बैठक में उपस्थित पूर्ति निरीक्षकों को निर्देशित किया गया कि वह वितरण के समय वाॅट माप निरीक्षक के साथ अपने-अपने क्षेत्र में भ्रमण करें तथा घटतौली एवं अधिक मूल्य वसूलने वाले उचितदर विक्रेताओं के साथ-साथ वितरण कराने हेतु नामित नोडल अधिकारियों के विरूद्ध भी कठोर कार्यवाही सुनिश्चित करायें। मा0 सदस्यों से अपेक्षा की गयी इस प्रकार की अनियमितता बरतने वाले उचितदर विक्रेताओं के नाम व पते की सूची उपलब्ध कराये ताकि उनकी पृृथक से जाॅंच करायी जा सकें। जिलाधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया कि वर्तमान में कोहरे का प्रकोप शुरू होने जा रहा है। जनपद के समस्त पैट्रोल पम्प धारकों को निर्देशित कर दिया जाये कि वह अपने-अपने पम्पों पर आने वाले भारी वाहनों में रिफलेक्टर लगवाये तथा बिना रिफलेक्टर लगे भारी वाहनों में डीजल आदि न दें। उक्त के अतिरिक्त समस्त पैट्रोल पम्प धारक अपने-अपने पैट्रोल पम्पों पर हवा, पानी की निःशुल्क उपलब्धता सुनिश्चित करायें तथा शौचालयों को साफ सुथरा रखें। जिलाधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया कि जनपद के विभिन्न ग्रामीण क्षेत्रों में प्रचलित समस्त अन्त्योदय एवं पी0एच0एच0 राशनकार्डो का खुली बैठक में सत्यापन कराते हुये पात्र एवं अपात्र परिवारों की सूची तैयार करायी जाये। इस सम्बन्ध में जिलाधिकारी द्वारा जिला पंचायत राज अधिकारी, बदाय द्वारा प्रत्येक ग्राम मंें खुली बैठक हेतु निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार प्रत्येक ग्राम में बैठक कराने हेतु निर्देशित किया गया था इस सम्बन्ध में दूरभाष पर जिला पंचायत राज अधिकारी, बदाय को निर्देशित किया गया कि ग्राम पंचायत की खुली बैठक के एजेण्डे में राशनकार्डो का सत्यापन भी सम्मिलित करें। इसी प्रकार नगर क्षेत्रों में नगर निकाय कर्मचारियों के माध्यम से राशनकार्डो का सत्यापन कराने हेतु निर्देशित किया गया। जिलाधिकारी द्वारा बैठक में उपस्थित समस्त पूर्ति निरीक्षकों को निर्देशित किया गया कि वह अमजन मानस में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम-2013 के अन्र्तगत शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र अन्र्तगत पात्रता का आधार, राशनकार्ड बनवाये जाने सम्बन्धी प्रक्रिया, शिकायत किये जाने हेतु टोल फ्री नम्बर आदि का व्यापक प्रचार-प्रसार कराये। जिलाधिकारी द्वारा बैठक में उपस्थित समस्त पूर्ति निरीक्षकों को निर्देशित किया गया कि वह आई0जी0आर0एस0 प्रणाली से प्राप्त होने वाली शिकायतों का गुणवत्तापूर्वक निस्तारण कराये यह सुनिश्चित करें कि किसी भी दशा में कोई भी शिकायत डिफाल्टर की श्रेणी में न आने पाये। बैठक में उपस्थित समस्त आपूर्तिकर्मियों को निर्देशित किया गया कि वह उचितदर की दुकानों की निरन्तर जाॅच करते रहें तथा कालाबाजारी करने वाले उचितदर विक्रेताओं के विरूद्ध प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज करायें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.