बदायूं: 15 अगस्त को मनाया जाएगा गंदगी से मुक्त आजादी का जश्न 

बदायूं : गत वर्षों की भांति इस वर्ष भी स्वतन्त्रता दिवस की 71 वीं वर्षगांठ धूमधाम से मनाई जाएगी। डीएम ने जिला स्तरीय अधिकारियों, समाजसेवियों तथा विभिन्न संगठनों के पदाधिकारियों के साथ संयुक्त बैठक कर 15 अगस्त को आयोजित होने वाले कार्यक्रमों को अंतिम रूप दे दिया है।
बुधवार को कलेक्ट्रेट स्थित सभा कक्ष में जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह की अध्यक्षता में स्वतन्त्रता दिवस पर आयोजित होने वाले कार्यक्रम निर्धारण में सर्व सम्मति से तय हुआ कि 15 अगस्त को सभी सरकारी भवनों, शैक्षिक संस्थाओं में प्रातः आठ बजे ध्वजारोहण होगा। गांधी जन्मशती नेत्र चिकित्सालय में दस बजे तथा बदायूं क्लब में 11.45 बजे जिलाधिकारी द्वारा ध्वजारोहरण किया जाएगा। 15 अगस्त की पूर्व संध्या पर नगर पालिका परिषद में सांस्कृतिक कार्यक्रम तथा कवि सम्मेलन एवं मुशायरा आयोजित होगा। 15 अगस्त को प्रातः 6.30 बजे प्रभात फेरी तथा सात बजे महिला एवं पुरूष ओपन तथा 15 वर्ष से कम आयु के बालकों की स्पोर्ट्स स्टेडियम में दौड़ प्रतियोगिता होगी। नौ बजे जनपद के सभी शहीद स्मारकों पर अलग-अलग अधिकारियों द्वारा माल्यार्पण किया जाएगा। निर्बल बस्तियों में टीकाकरण कार्यक्रम भी स्वास्थ्य विभाग द्वारा कराया जाएगा। दोपहर 12.30 बजे कुंवर रूकुम सिंह वैदिक इण्टर कालेज में भाषण प्रतियोगिता आयोजित कराई जाएगी। सभी शिक्षण संस्थाओं में खेलकूद, भाषण तथा वाद विवाद प्रतियोगिताएं कराने हेतु जिला विद्यालय निरीक्षक तथा जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को जिम्मेदारी सौंपी है। जिला चिकित्सालय तथा जिला करागार में समाजसेवियों द्वारा फलों का वितरण भी किया जाएगा। शाम पांच बजे नगर पालिका परिषद में सार्वजनिक सभा भी आयोजित होगी। शहर में जिन जिन स्थानों पर महापुरूषों की प्रतिमाएं स्थापित हैं उन सभी पर पेंट कराया जाए और शहर में बेहतर ढ़ंग से साफ सफाई कराई जाए। डीएम ने अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व महेन्द्र सिंह को निर्देश दिए कि एक कमेटी गठित कर उन्हें प्रभात फेरी में शामिल करें। इसके अलावा अपनी सुविधानुसार छायादार एवं फलदार वृक्षारोपण अवश्य किया जाए। प्राइमरी स्कूलों में बच्चों की शतप्रतिशत उपस्थिति होनी चाहिए, विद्यालय में मौजिज़ लोगों को बुलाकर सम्मानित किया जाए। इस स्वतंत्रता दिवस पर गंदगी से मुक्त आजादी का जश्न मनाया जाए। विद्यालय में पढ़ाई, सफाई, हरियाली एवं संस्कार पर चर्चा की जाए। विद्यालय में प्रत्येक माह की 09 तारीख को अभिभावकों की बैठक की जाए। पूर्व में पढ़े विद्यार्थियों को विद्यालय में बुलाकर सम्मानित किया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.