बिल्सी: बिल्सी क्षेत्र में अज्ञात शव मिलने व की गयी हत्या का पुलिस ने किया खुलासा।

बदायूँ: वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जनपद बदायूँ अशोक कुमार के निर्देशन में एवं अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण सुरेन्द्र प्रताप सिंह, क्षेत्राधिकारी बिल्सी के कुशल नेतृत्व में दिनाँक 04.06.2018 को सुबह वादी श्री हेमराज पुत्र श्रीरामलाल नि0 बनवेहटा थाना बिल्सी जनपद बदायूँ द्वारा थाना बिल्सी पर इस आशय की सूचना दर्ज करायी कि दिनाँक 03.6.18 को उनका दामाद अग्रसेन पुत्र गोपाल दास निवासी मिश्रीपुर मुकैया थाना मुजरिया जिला बदायूँ उनकी भतीजी सुनीता उम्र लगभग 25 वर्ष, स्वर्गीय लोचन राम को शाम 7.30 बजे विदा कराकर अपनी मोटरसाइकिल से अपने गाँव मिश्रीपुर मुकैया लेकर गया। साथ में उसका बच्चा शुभम उम्र 02 वर्ष भी साथ में था। रात में करीब 11.30 ग्रामवासियों के द्वारा थाना बिल्सी पर सूचना मिली कि एक औरत की लाश सिरसौल ग्राम की सीमा में पड़ी है जिसका गला रेता गया व उसके बगल में 02 वर्ष का बच्चा भी मौजूद है अनहोनी की आशंका पर मैं मौके पर पहुँचा तो देखा की उसकी भतीजी सुनीता की लाश मिली है जिसका गला बड़ी बेरहमी से रेता गया। तथा बगल में बच्चा शुभम भी सोता मिला और दामाद उग्रसेन मौके से गायब मिला तथा दूरभाष से भी संपर्क नहीं हुआ उक्त सूचना पर थाना बिल्सी पर मु0अ0सं0 390/18 धारा 302/201 भादवि बनाम अज्ञात पंजीकृत हुआ। तथा इसकी सूचना तत्काल उच्चाधिकारियों को दी गयी।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जनपद बदायूँ अशोक कुमार के आदेशानुसार अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण / क्षेत्राधिकारी बिल्सी व प्रभारी निरीक्षक बिल्सी संजय राय के नेतृत्व में एक टीम गठित की गयी घटना के अनावरण हेतु तुरन्त प्रयास प्रारंभ किये गये। दौराने विवेचना यह तथ्य प्रकाश में आया कि उग्रसेन पुत्र गोपालदास निवासी मिश्रीपुर मुकैया थाना मुजरिया बदायूँ की शादी लगभग 3 वर्ष पहले सुनीता के साथ हुई थी शादी के बाद से ही उग्रसेन सुनीता के पुराने संबंधों को लेकर शक करने लगा। तथा सुनीता को लेकर दिल्ली रहने लगा। जहाँ पड़ोस में रहने वाले कई पड़ोसी लड़को का उग्रसेन के घर पर आना जाना हो गया ।तथा उग्रसेन ने सुनीता को आपत्ति जनक स्थिति में देख लिया। तब लगभग 15 दिन पूर्व सुनीता को उसके मायके छोड़ गया तथा तभी से सुनीता का रास्ते से हटाने का मन बना लिया कल दिनाँक 03.06.18 को अपने सगे भाई ऋषिदेव पुत्र गोपालदास व चचेरे भाई विजय सिंह पुत्र भगवान सिंह के साथ हत्या की योजना बनायी। इसके तहत उग्रसेन मृतका सुनीता को लेने मायके बनवेहटा पहुँचा तथा उसे बाइक पर बैठाकर मिश्रीपुर मुकैया जाने के लिए चला। तथा योजनाअनुसार दोनो भाई ऋषिदेव व विजय सिंह बिल्सी बाजार से जितेन्द्र की दुकान से चाकू खरीदकर सिरसौल पहुँचे तथा जैसे ही उग्रसेन बाइक से आया उसके पीछे-पीछे चल दिया । तथा पोपी वाली कुइया सिरसौल रोड के सामने कच्चे रोड पे ले जाकर तीनो ने मिलकर सुनीता का गला रेतकर हत्या कर दी तथा बच्चे को मौके पर ही सोता हुआ छोड़कर चले गये। मुखबीर की सूचना पर आज दिनाँक 4.5.18 को अभियुक्तगण
1-उग्रसेन पुत्र गोपाल दास
2-ऋषिदेव पुत्र गोपाल दास
3-विजय सिंह पुत्र भगवान सिंह निवासीगण मिश्रीपुर मुकैया बदायूँ को मय घटना के प्रयुक्त 2 बाइकों ,03 मोबाइलों के साथ गिरफ्तार किया गया। तथा अभियुक्गणों की निशादेही पर घटना में प्रयुक्त हुए आलाकत्ल चाकू को सिरसौल रोड के किनारे स्थित झाड़ियों के पास से बरामद किया गया। अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया।
अभियुक्तगण के पास से 01 बजाज प्लेटिना मोटरसाइकिल रंग काला UP 24 N9541 बरामद हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.