मुरादाबाद: बुद्ध पूर्णिमा धूमधाम से समारोह पूर्वक मनाई गई. (हिलाल अकबर की रिपोर्ट)

मुरादाबाद/बिलारी। नगर स्थित अंबेडकर पार्क एवं  ढकिया नरू के अम्बेडकर पार्क के अलावा देहात क्षेत्रों में अंबेडकर अनुयायियों ने बुद्ध पूर्णिमा बड़ी ही धूमधाम से समारोह पूर्वक मनाई। अंबेडकर युवक संघ के अनुयायियों ने सर्वप्रथम भगवान गौतम बुद्ध के चित्र के आगे दीप प्रज्वलित कर पुष्प अर्पित किए और सभी अनुयायियों ने बौद्ध बंदना की। इस दौरान वक्ताओं ने कहां कि भगवान गौतम बुद्ध का जन्म पूर्णिमा को हुआ था और बुद्धि प्राप्त भी पूर्णिमा के दिन ही हुई थी ।महापरिनिर्वाण भी पूर्णिमा को ही हुआ था ।यह एक संयोग की बात है जन्म भी जंगल में हुआ और बुद्धि भी जंगल में प्राप्त हुई तथा परिनिर्वाण भी जंगल में ही हुआ था ।कहा कि भगवान गौतम बुद्ध का जन्म एक अवतार के रूप में माना जाता है। बाबा साहेब डॉक्टर भीमराव अंबेडकर जी ने बुद्ध के बताए मार्ग का अनुसरण किया तथा बाद में बौद्ध धर्म भी अपने लाखों अनुयायियों के साथ नागपुर में ग्रहण किया। ढकिया नरु में आयोजित कार्यक्रम में भिक्षु थैरौपानन्द महासंघ नायक राष्ट्रीय बुद्ध क्रांति महासंघ ने बताया कि भगवान गौतम बुद्ध ने ऊंच नीच छुआ छात को मिटाकर समतामूलक समाज की स्थापना करने का संदेश दिया था बौद्ध धर्म विश्व बंधुत्व का मार्ग दिखाता है डॉ भीमराव अंबेडकर ने भी उनके बताए मार्ग को अपनाकर सर्व समाज में समतामूलक समाज की स्थापना करने एवं संगठित रहने की शिक्षा दी थी समारोह में बौद्ध भिक्षु  अक्षदीप हरदयाल सिंह भारतीय पृथ्वी सिंह आजाद छत्रपाल बी पी सिंह गेंदन लाल सागर रन सिंह भारती जिला पंचायत सदस्य वीर सिंह गौतम जसवंत सिंह लाल सिंह अमर सिंह रामकुमार सिंह मास्टर लाल सिंह बदन सिंह चरण सिंह गौतम बादाम सिंह होरीलाल मनोहर सिंह तेजपाल सिंह मनवीर सिंह शिवम सागर डॉक्टर चरण सिंह धर्म सिंह दानवीर सिंह जसवंत सिंह गौतम कुमारी निशा कुमारी वर्षा आदि के साथ बड़ी संख्या में अंबेडकर अनुयाई मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.