मुरादाबाद: श्रमिकों ने धूमधाम से मनाया मजदूर दिवस। (हिलाल अकबर की रिपोर्ट)

मुरादाबाद/बिलारी। मजदूर दिवस पर आयोजित गोष्ठी में श्रमिकों के शोषण उत्पीड़न एवं आर्थिक तंगी पर वक्ताओं ने गहरी चिंता व्यक्त की। आज का दिन पूरे विश्व में मजदूर दिवस के रुप में मनाया जाता है आज ही के दिन अमेरिका के शिकागो शहर में 8 घंटे कार्य दिवस की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे श्रमिकों पर तत्कालीन सरकार ने बर्बरतापूर्वक गोलियां चलाई। उनका यह लहू रंग लाया और दुनिया भर में 8 घंटे कार्य कर के लिए सरकारों में सहमति बनी। उससे पूर्व सूर्य निकलने से सूर्य आज तक सिर में कौन से कार्य लिया जाता था। गोष्ठी में वक्ताओं ने कहा कि श्रमिक दुनिया में एक ऐसी शक्ति के रूप में उभर कर आए की सत्ता रानी को बदलने के लिए पहचाने जाने लगे इससे पूंजीपति वर्ग घबरा गया काफी चंदन के बाद लोकतंत्र के झूले के रूप में एक विचार लाया गया जिसमें श्रमिकों की शक्ति कोचीन कर दिया गया मजदूरी छोटे से दायरे में सिमट कर रह गए और उसका आंदोलन भी वेतन भत्ता बढ़ाओ तक सीमित रह गया मुझे बात की साजिशों से कार्ल मार्क्स का वह नारा भी वेमानी हो गया जिसमें उन्होंने कहा था कि शोषण अत्याचार के विरुद्ध श्रमिक एक हो जाओ पुणे को तुम्हारे पास कुछ नहीं है और पाने का पूरा जहान है वक्ताओं ने कहा कि अब मजदूर वर्ग बदलाव की ऐतिहासिक ताकत हो चुका है तथा सर्वहारा समीकरण और परिभाषा बदल गई है जबकि देश में भी मजदूरों की हालत पहले से भी बदतर है रोटी कपड़ा और मकान का सपना पूरा नहीं हुआ श्रम विभाग एक सफेद हाथी बनकर रह गया साप्ताहिक बंदी भी बेअसर हो गई बाजार कारखाने व अन्य प्रतिष्ठान खुले रहते हैं ऐसे में मजदूरों से आज भी 12 घंटे तक कार्य लिया जा रहा है गोष्टी इस निष्कर्ष पर पहुंची श्रमिकों की पाली भाषा का मूल रूप से प्रचार प्रसार कर श्रमिकों को जागरुक किया जाए जिससे कि फिल्म बेचने वाले ऑफिस के बाबू से लेकर खेतिहर मजदूर तक सबको पता बदलाव की एक ताकत बन सके गोष्ठी की अध्यक्षता डॉक्टर राकेश रफीक  ने  व संचालन मोहम्मद आसिफ कमल एडवोकेट ने किया गोष्टी में संजय सक्सेना अब्दुल कुद्दूस जुबेर अहमद खान शास्त्री गुलाम जिलानी चौधरी खलील अहमद इरशाद हुसैन धर्मेंद्र आजाद मोहम्मद कासिम मोहम्मद नजर एडवोकेट दिलशाद हुसैन शरद गुप्ता रफीक अहमद हरवीर सिंह गजराम सिंह रंजीत सिंह प्रेमपाल मोहम्मद अहमद आदि ने विचार व्यक्त किए पुरानी तहसील परिसर में स्थित चेंबर पर आयोजित गोष्ठी के आगंतुकों का आभार मोहम्मद आसिफ कमल एडवोकेट ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.