लाभार्थियों को दिलाया जाए परियोजनाओं का लाभ : डीएम

बदायूँ/उत्तर प्रदेश
बदायूँ : जिलाधिकारी मनोज कुमार की अध्यक्षता में सोमवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में प्रधानमन्त्री मत्स्य सम्पदा योजना की जिला स्तरीय कमेटी की बैठक आयोजित की गई। बैठक में वर्ष 2022-23 में मत्स्य विभाग के विभागीय पोर्टल पर आनलाइन माध्यम से प्रधान मन्त्री मत्स्य सम्पदा योजना की विभिन्न परियोजनाओं जैसे निजी भूमि पर तालाब निर्माण, बायोफलाक तालाब निर्माण, मोटर साईकिल विद आइस बाक्स, साइकिल विद आईस बाक्स आदि में प्राप्त आवेदनों में से पात्र 54 लाभार्थियों के चयन का अनुमोदन किया गया जिसकी कुल परियोजना लागत रू0 81.40 लाख हुई जिसके माध्यम से लाभार्थियों को रू0-40.55 लाख का अनुदान दिया जा सकेगा। साथ ही वर्ष 2020-21 तथा 2021-22 में प्रधानमन्त्री मत्स्य सम्पदा योजनान्तर्गत चयनित लाभार्थियों के दिये गये अनुदान पर हुए व्यय का अनुमोदन किया गया।

जिलाधिकारी ने मुख्य कार्यकारी अधिकारी मत्स्य को निर्देश दिए कि योजना का वृहद रूप से प्रचार प्रसार कराया जाये, प्रत्येक तहसील मे आयोजित तहसील दिवसों में योजना के पम्प्लेट आदि प्रचार सामग्री वितरित करायी जाये, जिससे योजना का प्रचार प्रसार हो सके तथा ग्राम स्तर पर योजना की जानकारी हो सके। उन्होंने मुख्य कार्यकारी अधिकारी को निर्देशित किया कि परियोजना निदेशक जिला ग्राम्य विकास अभिकरण का सहयोग लेकर स्वयं सहायता समूहों को इस योजना से लाभान्वित करने हेतु कार्यवाही की जाये।

इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी, जिला कृषि अधिकारी, उपायुक्त मनरेगा, अग्रणी जिला प्रबन्धक पंजाब नैशनल बैंक, अधिशासी अभियन्ता सिंचाई विभाग के प्रतिनिधि तथा उत्कृष्ट मत्स्य पालक फरीद उद्दीन एवं मत्स्य विभाग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमित कुमार शुक्ला व अन्य सम्बंधित अधिकारी मौजूद रहे।

चीफ रिपोर्टर मुकेश मिश्रा