वजीरगंज के ग्राम बरौर अमानुल्लापुर के पूर्व माध्यमिक विद्यालय में अध्यापक दिवस बड़े धूमधाम से मनाया गया। (योगेश गुप्ता की रिपोर्ट)

बदायूँ/वजीरगंज : – विकास क्षेत्र वजीरगंज के ग्राम बरौर अमानुल्लापुर के पूर्व माध्यमिक विद्यालय में आज अध्यापक दिवस बड़े धूमधाम से मनाया गया। मां शारदे और डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन के समक्ष दीप प्रज्वलन कर उन्हें पुष्प अर्पित किए । अध्यापक दिवस पर मुख्य अतिथि के रुप में उपस्थित हुए स्काउट प्रशिक्षक गिरधारी लाल ने छात्र छात्राओं को बताया कि हमारा पहला शिक्षक अर्थात प्रथम गुरु माता पिता होता है , बच्चा अपने परिवार से ही प्रथम शिक्षा प्राप्त करता है। हमें उनका हमेशा सम्मान करना चाहिए । शिक्षक ही होता है, जो छात्र को सफलता का मार्ग बताते हुए उसके जीवन व्यक्तित्व को निखारता है। विद्यालय के अध्यापक विनोद यादव ने राष्ट्रपति सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जीवन पर पूर्ण प्रकाश डालते हुए कहा कि हम राष्ट्रपति सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्मदिन को शिक्षक दिवस के रूप में मनाते हैं और कहा कि गुरु से बड़ा कोई नहीं होता । गुरु सबसे बड़ा होता है और हमें गुरु का हमेशा सम्मान करना चाहिए। गुरु कोई भी हो सकता है । जिस व्यक्ति से हमें ज्ञान प्राप्त होता है, वही हमारा गुरु होता है । बच्चों के लिए गुरु के ऊपर दो पंक्तियां भी प्रस्तुत की –
“गुरु गोविंद दोऊ खड़े
काको लागे पाय
बलिहारी गुरु आपने
गोविंद दियो बताए”
अर्थात गुरु ही हमें भगवान का रास्ता बताता है। जब ऐसी स्थिति आ जाए कि हमें भगवान और गुरु में से किसके चरणों को सबसे पहले स्पर्श करना चाहिए तो हमें सबसे पहले गुरु के चरणों छूना चाहिए क्योंकि गुरु सबसे बड़ा होता है और गुरु ही हमें भगवान के बारे में बताता है एवं उस तक पहुंचने का मार्ग समझाता है ।
बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ साथ विभिन्न गीत भी प्रस्तुत किए।
अंत में विद्यालय के प्रधानाचार्य डॉक्टर राजेंद्र कुमार शर्मा ने सभ्य समाज के निर्माण में शिक्षक की भूमिका पर प्रकाश डाला और छात्र छात्राओं को बताया कि हमें मेहनत से पढ़ाई करनी चाहिए, तभी हमें सफलता मिलेगी ।
इस अवसर पर ग्राम प्रधान किशनपाल सिंह, एसएमसी अध्यक्ष एलकार सिंह, मुन्नालाल, बलवीर सिंह, मालवती, लक्ष्मी देवी, विद्यालय का समस्त स्टाफ और छात्र छात्राओं के अभिभावक भी मौजूद रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published.