सेहत ख़ुदा की सबसे बड़ी नेमत है : डीएम

बदायूँ/उत्तर प्रदेश
बदायूँ : जिलाधिकारी मनोज कुमार की अध्यक्षता में नियमित टीकाकरण के अंतर्गत आने वाले इनकार परिवार के मोबिलाइजेशन हेतु जनपद के सभी ब्लॉक से धार्मिक गुरुओं एवं प्रभावशाली व्यक्तियों द्वारा समाज में टीकाकरण के प्रति जागरुकता फैलाने की अपील कलेक्ट्रेट स्थित सभागार में मंगलवार को की गई।

डीएम ने कहा कि सेहत खुदा की सबसे बड़ी नेमत है, इसके प्रति विशेष ख्याल रखना चाहिए। बहुत से परिवार बच्चों को बुखार आने की वजह से टीकाकरण नहीं कराते हैं, जबकि बुखार आना टीकाकरण का पॉजिटिव इफैक्ट है, जिससे यह ज्ञात होता है कि टीकाकरण ठीक से काम कर रहा है। थोड़े से वक्त की परेशानी से बचने के लिए कुछ परिवार अपने बच्चों का टीकाकरण नहीं कराते हैं और फिर टीकाकरण से वंचित रहने के कारण बच्चा किसी न किसी बीमारी से ग्रस्त हो जाता है। इस लिए बच्चों को सही समय पर टीकाकरण कराना अति आवश्यक है। इसके प्रति लोगों को जागरुक करते हुए एक स्वस्थ्य समाज के निर्माण में भागीदार बनें। इसमें सभी के सहयोग की आवश्यकता है। जब यह देश कोविड-19 जैसी महामारी से अपनी हिम्मत और साहस के बल पर उभर आया, जिसमें सभी ने एक दूसरे के कांधे से कांधा मिलाकर अपनी साकारात्मक भूमिका निभाई है। इसी प्रकार अन्य टीकाकरण में भी अपनी साकारात्मक भूमिका निभाएं।

कार्यक्रम में जिला प्रतिक्षण अधिकारी रीजनल कोऑर्डिनेटर यूनिसेफ द्वारा टीकाकरण की महत्वता एवं टीकाकरण न करवाने से होने वाली बीमारियो एवं इनकार वाले परिवारों को समझाने का धार्मिक गुरुओं के माध्यम से अपील की गई। ऑल इण्डिया पर्सनल लॉ बोर्ड के समस्य डॉ0 यासीन अली उस्मानी, मैथोडिस्ट चर्च के फादर ईपी सिंह व आचार्य संजीव रूप एव प्रजापिता ब्रह्म कुमारी अरुणा दीदी, मुख्य गुरुद्वारा के प्रमजीत सिंह ज्ञानी ने अपने अपने धर्मो की ओर से नियमित टीकाकरण में सहयोग प्रदान करने का आव्हान किया गया। विरोधी परिवारों के कन्वर्जन हेतु संदीप सक्सेना हेतु चर्चा की गई।

कार्यक्रम का संचालन सुभाष सिंह द्वारा किया गया कार्यक्रम के अंत में मुख्य चिकित्साअधिकारी द्वारा सत्र स्थल पर संबंधित सामग्री एवं वैक्सीन की पूर्ति करने को आश्वस्त किया गया। कार्यक्रम में बीएमसी भुवनेश कुमार शर्मा एवं सुमन लता का विशेष सहयोग रहा। कार्यक्रम में जिलाधिकारी ने सभी से हाथ उठवा कर शतप्रतिशत टीकाकरण करने का संकल्प दिलाया गया। यूनिसेफ के डीएमसी सुभाष सिंह एवं संदीप सक्सेना द्वारा संचालन किया गया।

चीफ रिपोर्टर मुकेश मिश्रा