उझानी: लेखपाल पर अवैध रूप से दीवार गिरवा कर कब्जा कराने का लगाया आरोप, डीएम से की शिकायत।

बदायूँ: सरकार चाहे कोई भी हो लेकिन भूमाफियाओं की दबंगई कम होती नजर नहीं आ रही । भले ही सरकार बडे बडे दावे करती हो कि एंटी भूमाफिया दस्ता बनाकर हमने भूमाफियाओं पर शिकंजा कसा है लेकिन उनके ही सत्ताधारी कुछ नेताओं की सह पर भूमाफियाओं के हौसले बुलंद ही नजर आते हैं। जी हां ऐसा ही एक मामला यूपी के बदायूं जिले के कस्बा उझानी से सामने आया है । जहां एक बेबा महिला ने कस्बे के ही कुछ लोगों व लेखपाल पर खडे होकर अवैध रूप दीवार गिरवाकर कब्जा कराने व मारपीट करने का आरोप लगाया है। बेबा महिला का आरोप है कि उसके मोहल्ले के लोगों ने उसकी जमीन पर अवैध रूप से कब्जा कर बुनियाद भी खुदवा ली है और वह मदद के लिए उझानी कोतवाली पहुंची तो पुलिस ने भी कोई कानूनी कार्रवाई नही की है।

पूरा मामला उझानी कोतवाली के क्षेत्र के कस्बे के ही मोहल्ला बाहदुर गंज का है । नगर के बहादुर गंज मोहल्ला निवासी बेबा कुसुमा देवी ने अपने ही मोहल्ला के एक व्यक्ति पर न्यायालय मे विचाराधीन जगह पर लेखपाल ओमेंद्र पाल शाक्य पर खडे होकर अवैध कब्जा कराने का आरोप लगाते हुए जिलाधिकारी दिनेश कुमार को एक शिकायती पत्र सौंपा है और न्याय की गुहार लगाई है। बेबा का आरोप है प्रार्थनी गाटा संख्या 815, 816, 817, 818 की भूमिधर स्वामिनी है जिसमे गाटा संख्या 817 मे मोहल्ला के ही नन्ही देवी पत्नी राजेन्द्र व राजेन्द्र पुत्र मैकूलाल ने लेखपाल के सहयोग से उसकी जमीन पर अवैध रूप से कब्जा किया है। संबंधित लेखपाल ने न्यायालय के आदेश की अवमानना करते हुए आरोपियों से सांठगांठ कर अवैध कब्जा कराया है। जबकि प्रार्थनी का न्यायालय सिविल जज (जू.डि.) मे वाद विचाराधीन है एवं (सी०डि०) मे वाद संख्या -162/18 गजेंद्र बनाम नन्ही देवी विचाराधीन है। उक्त वाद मे नियत तिथि 03-11-2018 है लेकिन लेखपाल द्वारा भूमाफियाओं को सांठगांठ कर अवैध रूप से कब्जा कराया गया है । वहीं बेबा महिला का आरोप है कि उसने जनसुनवाई पोर्टल पर भी शिकायत की लेकिन फिर भी भूमाफियाओं पर कोई कार्रवाई नही हुई है साथ ही चेतावनी देते हुए बेबा कुसुमा ने कहा है कि अब भी अगर कोई कार्रवाई नही हुई तो वह 17 नबंवर से भूख हड़ताल पर बैठेगी और इसका जिम्मेदार जिला प्रशासन होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.