बदायूँ:   एक जनपद एक उत्पाद कार्यक्रम में चेक एवं स्वीकृति पत्र वितरित

 बदायूँः ‘‘एक जनपद एक उत्पाद’’ समित का लखनऊ से मुख्यमंत्री द्वारा चेक वितरण कार्यक्रम का लाइव प्रसारण कलेक्ट्रेट सभागार में लाभार्थियों को दिखाया गया। उत्तर प्रदेश सरकार के खादी एवं ग्रामोद्योग, रेशम उद्योग, वस्त्रोद्योग, सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम एवं निर्यात होगा।
रविवार को कलेक्ट्रेट में लघु उद्योग को मिली नई पहचान कारीगरों के लिए निर्यात हुआ आसान चिकनकारी-जरी जरदोजी विषयक ओडीओपी कार्यक्रम का मुख्य अतिथि  सदर विधायक महेश चंद्र गुप्ता ने फीता काटकर शुभारंभ किया। कलेक्ट्रेट में  विभिन्न  उद्यमियों द्वारा लगाए गए स्टालों का  अवलोकन किया। जिले में लोगों को विभिन्न उद्योग स्थापित करने के लिए मुद्रा लोन योजना में 13 लोगों के लिए एमओयू, प्रधानमंत्री  मुद्रा योजना में 95 लोगों को  चेक  एवं ऋण स्वीकृति पत्र वितरित किए गए। सदर विधायक महेश चंद्र गुप्ता, जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह, एलडीएम श्याम पासवान सहित अन्य अधिकारी एवं उद्यमी मौजूद रहे। सदर विधायक ने कहा कि देश एवं प्रदेश की सरकार बेरोजगारों को रोजगार से जोड़ने के लिए प्रतिबद्ध है। जनपद को जरी- जरदोजी उद्योग के लिए चुना गया इसमें सभी उद्यमी लोग मेहनत से कार्य करके जनपद का नाम रोशन करें। सभी लोगों को आर्थिक स्थिति में सम्पन्नता आएगी। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार एवं उत्तर प्रदेश सरकार बिना भेदभाव के सबका साथ सबका विकास कर रही है। रोजगार पा जाने से निश्चित ही समाज खुशहाल बनेगा और देश एवं प्रदेश का चहॅुमुखी विकास होगा। सरकार ने उद्योग विभाग, ग्रामोद्योग एवं अन्य कई विभागों के माध्यम से बेरोजगारों से स्वरोजगार करने हेतु लोन मुहैया कराया। उन्होंने बैंकों के अधिकारियों से कहा कि बेरोजगारों को रोजी रोटी एवं रोजगार करने हेतु ऋण ज्यादा से ज्यादा मुहैया कराएं जिससे आर्थिक उत्थान हो सके।
 जिलाधिकारी ने कहा कि ओडीओपी समिट के आयोजन से एक जनपद एक उत्पाद से जिले में निखार आ रहा है और जिले के उद्यमी लाभान्वित हो रहे है। जिले में उद्यम लगाने से अपार संभावनाएं बढ़ती हैं। लोग रूचि लेकर उद्योग को स्थापित करें। उन्होंने कहा कि किसी भी उद्यमी को लोन के संबंध में कोई भी समस्या आ रही हो तो तत्काल एलडीएम से मिलकर समस्या को हल करें। उन्होंने कहा कि सिलाई का अच्छा कार्य  करने वाले  उद्यमियों को अगले वर्ष से स्कूल की ड्रेसों का सिलाई कार्य दिया जाएगा।
जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक श्याम पासवान ने बताया कि विभिन्न क्षेत्रों में उद्योग स्थापित करने के लिए जनपद में अब तक विभिन्न बैंकों की  188 शाखाओं द्वारा सूक्ष्म लघु उद्योग एवं जरी-जरदोजी के लिए 1289 लोगों को 201 करोड़ 67 लाख रुपए  का लोन दिया जा चुका है। उन्होंने बताया कि इस वर्ष जिले में 183 करोड रुपए का ऋण 301 लोगों को स्वीकृत किया गया है। उन्होंने उद्यमियों को बताया कि बैंक खातों में बराबर लेनदेन करते रहे है।  मुद्रा लोन योजना में तीन महीने तक लेन-देन न करने पर खाता खराब हो जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.