दिल्ली: भारत और चीन के बीच दोहरी करवंचना समझौते में संशोधन के लिए हस्ताक्षर

दिल्ली: भारत और चीन ने आज दोहरे कराधान से बचने और आयकरों के संदर्भ में वित्तीय अनियमितता की रोकथाम के लिए दोहरी करवंचना समझौते (डीटीएए) में संशोधन के लिए एक सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किये हैं।

अन्य बदलावों के अलावा, इस सहमति पत्र में नवीनतम अंतर्राष्ट्रीय मानदंडों में सूचना के आदान-प्रदान के लिये मौजूदा प्रावधानों को अद्यतन किया गया है। इसके अलावा, इस सहमति पत्र में बेस इरोजन एंड प्रोफिट सिफ्टिंग (बीईपीएस) प्रोजेक्ट की कार्यशील रिपोर्ट के तहत, संधि से संबंधित न्यूनतम मानदंडों को लागू करने के लिए आवश्यक बदलावों को शामिल किया गया है, जिसमें भारत ने सामान रूप से भागीदारी की थी। इस संधि में दोनों पक्षों की सहमति के आधार पर बीईपीएस एक्शन रिपोर्ट के अनुसार कई बदलाव किये गये हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.