कादरचौक: श्रीमद्भागवत कथा के चौथे दिन कथा में भगवान श्रीकृष्ण के जन्म और बाल लीलाओं का वर्णन किया गया।

उझानी: कादरचौक क्षेत्र के गांव बमनौसी में चल रही श्रीमद्भागवत कथा के चौथे दिन प्रातः देवकन्याओं ने यज्ञ भगवान को लोकल्याणार्थ गायत्री मंत्र की विशेष आहुतियां समर्पित कीं। यज्ञाचार्य लालू चैतन्य ने वेदमंत्रोच्चारण किया। कथा में भगवान श्रीकृष्ण के जन्म और बाल लीलाओं का वर्णन किया गया।
कथा वाचक हरलेश चैतन्य ने कहा कि आध्यात्मिक चिंतन से अंतःकरण शुद्ध होता है। भक्ति में शक्ति होती है, जो ईश्वर के साक्षात दर्शन कराती है। भगवान श्री कृष्ण ने बुराई रूपी कंस का वध किया। संसार को गौ संवर्धन की प्रेरणा दी।
सत्यपाल व आराम सिंह यज्ञ मुख्य यजमान रहे। इस मौके पर संजीव कुमार, निर्दोष, नेत्रपाल, शिवसिंह, सत्यवीर सिंह यादव, ओमप्रकाश, सोमदेव, सन्तोष, सोहनपाल, प्रेमपाल, डाॅ. रामौतार माहेश्वरी, प्रेमपाल, दुर्वेश, भुवनेश, विमला, बबली, काजल रीना, शिवानी आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *