बदायूँ: जल को दूषित होने से बचाना सबका दायित्व : डीएम

बदायूँ :कलक्ट्रेट स्थित सभागार में सोमवार को कार्यशाला को सम्बोधित करते हुए जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह ने राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल कार्यक्रम के अन्तर्गत जनजागरुकता हेतु जिला स्तरीय कार्यशाला का आयोजन दीप प्रज्जवलित कर किया। डीएम ने साफ-सफाई की आदतों को अपने जीवन में अपनाने के लिए विशेष बल दिया। उन्होंने बताया कि जल है तो ही कल है, यदि सभी व्यक्ति स्वच्छता हेतु संकल्प ले लें तो वह दिन दूर नहीं होगा कि सभी लोग स्वच्छ पेय जल का महत्व तथा उससे होने वाले लाभ को पा सकेंगे एवं अस्वच्छ पेयजल से होने वाले दुषपरिणामों को भी जान सकेंगे। जल मानव की आवश्यकता है। मानव की अधिकतम आवश्यकताओं की पूर्ति का साधन जल ही है। इसे हर हाल में संरक्षित करने की आवश्कयता है। डीएम ने स्वच्छता सम्बंधी सभी गतिविधियों के स्टालों का अवलोकन किया तथा टोलियों को हरी झण्डी दिखाकर विभिन्न क्षेत्रों के लिए रवाना किया।
ग्रामीण अंचलों में पीने योग्य पानी की जलापूर्ति हेतु पाइपलाइन योजनाओं के प्रचार प्रसार, जल गुणवत्ता प्रभावित ग्रामों में आर्सेनिक फ्लोराइड तथा आयरन मुक्त पेयजल उपयोग करने हेतु जागरुकता, ग्राम वासियों को फ्लोरोसिस एवं आर्सेनिकोसिस नामक बीमारी के न्यूनीकरण, पेयजल शुद्धीकरण संयन्त्र की जानकारी, दूषित पेयजल श्रोतो, छिछले हैण्डपम्पों के प्रयोग, जल भराव के कारण मच्छर के लार्वा पनपने एवं गंदगी, स्वच्छता एवं साफ-सफाई के अभाव में जल जनित एवं जलगुणवत्ता प्रभावित बीमारियों के न्यूनीकरण हेतु ग्राम स्तर पर स्वच्छता के अभाव में डायरिया, टायफाइड, पीलिया, मलेरिया, फाइलेरिया, कालरा व इन्सेफलाइटिस, खुले में शौच मुक्त करने की दिशा में अधिकाधिक शौचालयों का निर्माण कराने व शौचालयों के उपयोग में लाने, व्यक्तिगत स्वच्छता हेतु नाखून की सफाई, हैण्डवाश, स्नान तथा खाद्य पदार्थां का उचित रखरखाव हेतु यह टोलियाँ 15 ब्लाको के 1038 ग्राम पंचायतों में जागरुकता कार्याक्रम आयोजित करेंगी। मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. मनजीत सिंह ने दूषित जल से होने वाली बीमारियों की तरफ ध्यान आकर्षित कराया तथा उससे बचाव का मार्ग भी स्वच्छ जल को ही बताया। कार्यशाला में जिला पंचायत राज अधिकारी शशिकांत पाण्डेय, डीसी मनरेगा रामसागर यादव, ने भी अपने विचार व्यक्त किए। कार्यशाला को संस्थान के मास्टर ट्रेनर धनंजय सक्सेना, राजेन्द्र कुमार ने विस्तृत रेखांकन करते हुए रूपरेखा खींची। कार्यक्रम में अशोक सिंह तोमर, अतुल पाठक, बदरुद्दीन खान, अदिति रस्तोगी, शिवम श्रीवास्तव, सुरेन्द्र सिंह, रंजीत सिंह तथा समस्त खण्ड विकास अधिकारी एवं एडीओ पंचायत सहित कार्यकर्ता भी उपस्थित रहे। संचालन डॉ0 लक्ष्मण मिश्रा ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.