बदायूँ: पांचवें दिन भी जारी रहा भ्रष्टाचार के विरुद्ध उपवास/राष्ट्र राग “” रघुपति राघव राजाराम …….”” के कीर्तन के साथ शुरू हुआ उपवास/मांगों को गंभीरता से नहीं ले रहा है प्रशासन।/उपवास स्थल पर हुई प्रेस वार्ता।/जनपद के शौचालय और आवास घोटाला के बारे में दी साक्ष्य सहित जानकारी।

बदायूँ: भ्रष्टाचार मुक्ति अभियान के तत्वावधान में जनपद बदायूं को देश का प्रथम भ्रष्टाचार मुक्त जनपद बनाने हेतु चार सूत्रीय मांगों को लेकर चल रहे उपवास के पांचवें दिन उपवास स्थल पर भ्रष्टाचार मुक्ति अभियान के मुख्य प्रवर्तक हरि प्रताप सिंह राठोड़ एडवोकेट ने प्रेस वार्ता कर जनपद के दो बड़े घोटालों को उजागर किया।

श्री राठोड़ ने बताया कि जनपद बदायूं में शौचालय योजना और प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत जितनी ईंट की आवश्यकता है उतनी ईंट का उत्पादन जनपद बदायूं में नहीं होता है, फिर भी लक्ष्य पूर्ण कर लिए जाते हैं। अपात्रों को रिश्वत देकर शौचालय और आवास प्रदान किए गए, हजारों शिकायतें हुई किन्तु शासनादेश का उल्लघंन कर आरोपी को ही जांच सौंप दी गई तथा शिकायत असत्य होने की आख्या प्राप्त हो गई। शौचालय और प्रधानमंत्री आवास के लाभार्थियों की आफलाइन सूची, आनलाइन सूची एवं बैंक खाते में लाभार्थियों के नाम,पते भिन्न है। एक ही खाते में अनेक लाभार्थियों की धनराशि भेज दी गई है,फर्जी फोटो अपलोड किए गए हैं, एक ही फोटो अनेक लाभार्थियों के विवरण में अपलोड कर दिए गए हैं। आवास अपूर्ण होने पर भी पूर्ण दर्शा दिया गया है।मानक व निर्धारित मानचित्र के अनुसार शौचालय व आवास नहीं बनाये गये हैं। शौचालयों में दो टैंक नहीं बनाये गये हैं। एक ही परिवार में पिता, पुत्र, पुत्री, पत्नी, पुत्र वधू को शौचालय दे दिए गए हैं। रिश्वत न देने वाले लाभार्थियों को लाभ से वंचित कर उर्फ लगाकर अन्य व्यक्ति को लाभ दे दिया गया। अनेक लाभार्थी दिये गये पते के निवासी नहीं है। अपूर्ण आवासों को पूर्ण दर्शाकर भुगतान कर दिया गया। अनेक लाभार्थियों को तीसरी किस्त भी नहीं दी गई है। टायलेट ब्यूटी कांटेस्ट में मानक के विरुद्ध निर्मित शौचालय सम्मिलित किए गए। शौचालय की साज सज्जा तो देखी गई किन्तु मानक नहीं देखे गए। विकास खंड समरेर, दातागंज एवं कादरचौक में भारी गड़बड़ियां की गई है, विकास खंड म्याऊ,दहगवा एवं जगत में भी घोटाले किए गए हैं।

भ्रष्टाचार मुक्ति अभियान जिलाधिकारी बदायूं से मांग करता है कि शौचालय व आवास घोटाले की जांच हेतु एक उच्च स्तरीय जांच समिति गठित करें तथा भ्रष्टाचार मुक्ति अभियान के सहयोगियों की उपस्थिति में जांच करायी जावे। शौचालय एवं आवास के लाभार्थियों की सूची खंड विकास अधिकारी से प्रमाणित कराकर समस्त ग्राम पंचायत सदस्यों एवं क्षेत्र पंचायत सदस्यों को उपलब्ध कराई जावे तथा ग्राम पंचायत में स्थित सार्वजनिक भवनों पर चस्पा की जावे। खंड विकास अधिकारियों, सहायक विकास अधिकारियों एवं ग्राम पंचायत अधिकारियों की सम्पत्तियो की जांच उनके द्वारा राजकीय कर्मचारी आचरण नियमावली 1956 के नियम 24 के अन्तर्गत दिये गये विवरण के आधार पर करायी जावे।

इस सम्बन्ध में भ्रष्टाचार मुक्ति अभियान के सहयोगियों द्वारा प्रदेश के राज्यपाल, मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री गण, जनपद के प्रभारी मंत्री, मुख्य सचिव एवं मंडल आयुक्त बरेली को भी प्रेषित की जा रही है।

आज उपवास पर मो एस सी गुप्ता, एम् एल गुप्ता, रमाकांत मिश्र, बीडीसी महासंघ के जिला अध्यक्ष डॉ सुशील कुमार सिंह , शमसूलहसन , वेदपाल सिंह, अखिलेश सिंह, सुरेश पाल सिंह, गोविंद सिंह राणा,रतीराम, नेत्रपाल, अनिल अग्रवाल, छोटेलाल, भिखारी सिंह, रूपेन्द्र सिंह, रामस्वरूप, महेश चन्द्र,मान सिंह, दीपक माथुर,देवेश शन्खधार,नारद सिंह, मेवाराम,सिपट्टर सिंह,जनयेश पाल, राजेश,धन सिंह, बेचेलाल, धर्मपाल, जगदीश, रामवीर,चन्दू, रामनाथ, अमित कुमार,सन्जय पाल, सुभाष, चन्द्र पाल सिंह,बदन सिंह, विकास कुमार,प्रमोद कुमार, सतेन्द्र सिंह आदि उपस्थित रहे।

उपवास दिनांक 30-12-2018 को भी जारी रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.