उघैती: तीन पुलिस कर्मचारी और एक भाजपा नेता पर मर्डर करने का आरोप/परिवार के लोगों की मांग को लेकर हरिया उर्फ हरी सिंह की कई घंटों बाद अंतिम संस्कार हुआ/पुलिस के बीच अंतिम संस्कार किया गया। (अकरम मलिक की रिपोर्ट)

उघैती/बदायूं: उघैती थाना क्षेत्र में कुछ दिन पहले होमगार्ड की गोली मारकर हत्या की गई थी जिस आधार पर चार लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया जिसमें दो बदमाशों को जेल भेज दिया गया दो लोग पुलिस की गिरफ्त से फरार चल रहे थे जिसमें हरिया और हरी सिंह की इतवार के सुबह में सूरजपुर दानपुर के बीच में गांव वालों ने अज्ञात सब देखा हरिया और हरी सिंह के रिश्तेदारों ने हरिया का सब पहचान कर जरीफनगर थाना प्रभारी उघैती थाना प्रभारी और गांव महानगर में सूचना दी की हरिया की किसी ने हत्या कर दी है पुलिस और परिवार के लोग घटना पर पहुंचे लेकिन पुलिस परिवार से पहले घटना पर पहुंच गई और पुलिस ने हरिया को पोस्टमार्टम के लिए भेजने की तैयारी शुरू कर दी लेकिन परिवार का कहना है कि 1 घंटे तक हमें पुलिस ने गुमराह रखा की हरिया की लाश थोड़ी देर में आ रही है और पोस्टमार्टम के लिए बदायूं भेज दी है उसके बाद हरिया के भाई ने नादा चौकी पर अपने भाई के मुलाजिमों को पकड़ने की पुलिस से गुजारिश की और उसके बाद कुछ इरफान नासिर खान से भी भाई की झड़प हुई और वहां से परिवार और गांव के साथ चला गया फिर पुलिस ने उघैती छावनी बना दी दो ट्रक पीएसी कई थानों का फोर्स एसपीआरए सी ओ बिल्सी मजिस्ट्रेट बिल्सी चप्पे-चप्पे पर पुलिस लगा दी कहीं महानगर वाले थाने पर आकर तोड़फोड़ ना करें लेकिन महानगर के लोग पोस्टमार्टम की रिपोर्ट की तैयारी कर रहे थे गांव से कोई भी थाने की तरफ नहीं आया इतवार की रात 11:30 बजे हरिया और हरी सिंह का शव पोस्टमार्टम होने के बाद गांव पहुंचा गांव में सब और हरिया को देखने के लिए लोगों का तांता लगना शुरू हो गया सुबह सोमवार को प्रदीप यादव थाना प्रभारी नरेश यादव दो सरकारी जीप थाने की महानगर शब के पास पहुंच गई और परिवार के लोगों से कहा कि अब अंतिम संस्कार कर दो लेकिन परिवार की और गांव के लोगों की मांग को लेकर अंतिम संस्कार दोपहर 3:00 बजे तक नहीं हुआ गांव के और परिवार के लोगों की मांग थी कि तहरीर में जो चार लोगों के खिलाफ नाम दर्ज तहरीर दी है उन पर तत्काल मुकदमा दर्ज किया जाए और पकड़ कर जेल भेजा जाए दूसरी मांग महानगर रोड पर शराब की दुकान को हटाया जाए जिन लोगों से ललित भाटी थाना प्रभारी ने महानगर से जितने भी लोगों को उठाया गया उनसे जो पैसा लिया गया हो वह वापस किया जाए उसके बाद अंतिम संस्कार होगा और उच्च अधिकारी को बुलाया जाए फिर सी ओ सिटी को बुलाकर गांव भेजा गया मानने का आश्वासन दिया उसके बाद कहीं जाकर अंतिम संस्कार किया गया

भाई का कहना है कि मेरे भाई के लिए थाने में लाकर मार कर ले जाने के बाद सूरजपुर दानपुर के बीच में डाला अभी तक पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की है अब देखना है कि पुलिस ने आश्वासन तो दे दिया है लेकिन पुलिस क्या करती है क्या करती है
भाई लाल सिंह और हरिया उर्फ हरी सिंह के दादा गांव के लोगों का कहना है कि पूरा गांव एक है अगर हमारी यहां ना सुनी गई तो हम उच्च अधिकारी कोर्ट हाई कोर्ट सुप्रीम कोर्ट हर जगह जाएंगे और अपने बेटे को न्याय दिलाएंगे और मारने वालों को सख्त से सख्त कानून कार्रवाई करेंगे जब तक हम चैन से नहीं बैठेंगे
लाल सिंह ने बताया कि पुलिस हमारी बिल्कुल नहीं सुन रही है क्योंकि उसमें विभाग के कुछ अधिकारी हैं इसलिए हम कोर्ट में जाएंगे और कार्रवाई करेंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published.