बदायूँ: विधायक और डीएम ने निर्माण श्रमिकों को वितरित किए प्रमाण पत्र

बदायूँ :  उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा श्रम विभाग में पंजीकृत निर्माण श्रमिकों के परिवारों को आर्थिक सहायता देने के उद्देश्य से जनपद के 105 लाभार्थियों को 41,36,500 रूपये के स्वीकृति पत्र वितरित किये हैं। निर्माण श्रमिकों के परिवार में पुत्र के जन्म लेने पर 12000 रुपए एवं पुत्री के जन्म लेने पर 15000 रुपए पालनपोषण की ओर से दिया जा रहा है। कुल 17 प्रकार की योजनाएं श्रम विभाग की ओर से संचालित हैं, श्रम विभाग में पंजीकरण का शुल्क मात्र 20 रुपए है।
सोमवार को कलेक्ट्रेट परिसर में सदर विधायक महेशचन्द्र गुप्ता एवं जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह के करकमलों द्वारा उ0प्र0 भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड (विनियमन एवं नियोजन) के अन्तर्गत पात्र निर्माण श्रमिकों को हितलाभ स्वीकृत पत्रों का वितरण किया गया है। इसमें कन्या विवाह सहायता योजना के 50 लाभार्थियो को 27,50,000 रूपये, मृत्यु एवं विकलांगता सहायता योजना एवं अंतेष्टि सहायता योजना के 05 लाभार्थियो को 10,25,000 रूपये, मेधावी छात्र पुरस्कार योजना के 10 लाभार्थियो को 27500 रूपये, शिशु हितलाभ योजना के 20 लाभार्थियो को 276000 रूपये, चिकित्सा सहायता योजना के 20 लाभार्थियो को 58,000 रूपये के कुल 105 लाभाथियों को 41,36,500 रूपये के स्वीकृति पत्र वितरित किये गये। सदर विधायक ने कहा कि सरकार बिना भेदभाव के सबका साथ-सबका विकास के आधार पर गरीब लोगो को योजनाओं का लाभ दे रही है। गरीब परिवार में जन्मे मेधावी बच्चों की शिक्षा को दृष्टिगत रखते हुए कक्षा 5 से उच्च शिक्षा तक के लिए चार हजार रुपए से 22 हजार रुपए तक की वार्षिक छात्रवृति देने का प्रावधान है। डीएम ने कहा कि बिचौलियों को समाप्त कर सरकार लाभार्थी का पैसा सीधे उसके बैंक खाते में भेज रही है। किसी योजना के लिए न कोई बिचौलिया नाम कटवा सकता है और न ही जुड़वा सकता है। इसलिए ऐसे बिचौलियों के बहकावे में आने से बचे और सीधे उसकी शिकायत करें। इस अवसर पर श्रम प्रवर्तन अधिकारी, विजेन्द्र कुमार यादव, वरिष्ठ सहायक विचित्र कुमार सक्सेना व हकीकत मियाँ, सहायक लेखाकार मनीष कुमार झा एवं रूबेश, मुकेश उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.