बदायूँ: आंगनबाड़ी केन्द्र नियमित न खुलने पर होगी कार्यवाही : डीएम

बदायूँः  पोषाहार का वितरण निर्धारित प्रत्येक माह की 5, 15 एवं 25 तिथियों में निर्धारित मानकों के अनुसार किया जाए। समस्त पोषाहार वितरण केंद्रों को नियमित समय से प्रतिदिन खोला जाए और 15 दिनों के अंदर साफ-सुथरा एवं रंगाई पुताई हो जानी चाहिए। दो जनवरी को सभी केंद्रों पर सुपोषण स्वास्थ्य मेले का आयोजन किया जाए। सुपरवाइजर सुनिश्चित करें कि पोषाहार वितरण के दिन ग्राम प्रधान विद्यालय के प्रधानाचार्य अन्य गांव के बुजुर्ग एवं मौजिज़ लोगों को बुलाकर उनके हांथों से वितरण कराएं। लाल श्रेणी के बच्चों को एनआरसी में भर्ती कराकर कुपोषण से मुक्त कराए जाएं। अच्छा कार्य करने वाली सुपरवाइजर एवं आशाओं को सम्मानित किया जाएगा।
सोमवार को कलेक्ट्रेट स्थित सभागार में जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह की अध्यक्षता में राज्य पोषण मिशन के अंतर्गत जिला स्तरीय पोषण समिति की बैठक आयोजित की गई। उन्होंने 368 आंगनवाड़ी केंद्रों पर वजन मशीन क्रियाशील न होने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ मनजीत सिंह को निर्देश दिए कि शत प्रतिशत सभी केंद्रों पर वजन मशीन क्रियाशील होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि एएनएम सेंटरों पर नियमित रूप से बैठे। सुपरवाइजर गांव गांव जाकर गर्भवती महिलाओं के डिलीवरी के संबंध में सही ढंग से जानकारी कर अवगत कराएं। आशाएं गर्भवती महिलाओं का प्रसव सरकारी स्वास्थ्य केंद्रों में ही कराएं। उन्होंने कहा कि आंगनबाड़ी कार्यकत्री स्वास्थ्य विभाग की रीढ़ की हड्डी होती है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा चलाई जा रही विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाएं  गरीबों तक सही से पहुंचाएं। उन्होंने कहा कि समस्त आंगनबाड़ी केंद्र समय से खोले जाए और जो आंगनवाड़ी सेंटर नहीं खोले जा रहे हैं उनकी सूचना उपलब्ध कराई जाए जो भी सेंटर प्रतिदिन समय से खुलता नहीं मिला उसके प्रति कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। उन्होंने कहा कि अति कुपोषित लाल श्रेणी के बच्चों को एनआरसी जिला अस्पताल में भर्ती कराया जाए, जिससे बच्चों को कुपोषण मुक्त किया जा सके। उन्होंने कहा कि सभी लोग इमानदारी और मेहनत से लगकर गरीब बच्चों का हक है, उन तक पूरा पहुंचना चाहिए। पोषाहार वितरण में विकासखंड सहसवान और आसफपुर की ज्यादा शिकायत होने पर कड़ी फटकार लगाते हुए निर्देश दिए कि पोषाहार वितरण में किसी प्रकार की लापरवाही को क्षम्य नहीं किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.